एथलेटिक्स में रूस पर प्रतिबंध की सिफ़ारिश

  • 9 नवंबर 2015
डोपिंग मामलों पर रिपोर्ट इमेज कॉपीरइट Getty

वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (वाडा) की एक रिपोर्ट में सिफ़ारिश की गई है कि एथलेटिक्स प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेने के लिए रूस पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए.

वाडा के एक स्वतंत्र जांच आयोग ने रूसी खिलाड़ियों से जुड़े डोपिंग, मामले की लीपापोती और ज़बरन वसूली के आरोपों की पड़ताल की है.

जांच के दायरे में अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स संस्था आईएएएफ़ को भी शामिल किया गया था.

इसमें डोपिंग के लिए पांच खिलाड़ियों और पांच कोचों पर आजीवन प्रतिबंध लगाने पर भी ज़ोर दिया गया है.

इस रिपोर्ट के मुताबिक़ आईएएएफ़ डोपिंग पर क़ाबू पाने के लिए कोई प्रभावी कार्यक्रम लागू करने में असफल रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty

रूसी एथलीटों पर डोपिंग का संदेह होने के बावजूद रूसी एथलेटिक संस्था और आईएएएफ़ की निष्क्रियता साल 2012 के लंदन ओलंपिक में भी नज़र आई थी.

वहीं इस रिपोर्ट के आने से पहले आईएएएफ़ के अध्यक्ष लॉर्ड को ने कहा था, "ये एथलेटिक्स के लिए काले दिन हैं."

बीबीसी रेडियो-5 को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, "जिस दिन मैं अध्यक्ष चुना गया, मैंने बड़े पैमाने पर समीक्षा शुरू की. मैं एथलेटिक्स की प्रतिष्ठा दोबारा क़ायम करने के लिए प्रतिबद्ध हूं. हालांकि सुधार का रास्ता काफ़ी लंबा है."

रूस ने अपने खिलाड़ियों पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार