रिश्वतकांड में ब्लैटर की भूमिका की जांच

  • 7 दिसंबर 2015
सेप ब्लेटर इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी जांच एजेंसी एफबीआई 10 करोड़ डॉलर के रिश्वतकांड में फ़ीफ़ा अध्यक्ष सैप ब्लैटर की भूमिका की जांच कर रही है.

इसका पता बीबीसी पैनोरमा की एक जांच में चला है.

हालांकि ब्लैटर ने इस रिश्वतकांड की कोई जानकारी होने से इनकार किया है.

आरोप है कि स्पोर्टस मार्केटिंग कंपनी आइएसएल ने फ़ीफ़ा के पूर्व अध्यक्ष जाओ हैवेलांगे और पूर्व मुख्य कार्यकारी रिकार्डो टिक्सेरिया और अन्य को 10 करोड़ डॉलर का भुगतान किया और इस रकम के बदले आइएसएल को 1990 के दशक में मार्केटिंग और प्रसारण के अधिकार दिए गए.

जांच में पता चला है कि ब्लैटर ने रिश्वत कांड के अभियुक्त टिक्सेरिया को 2018 और 2022 के विश्व कप फुटबॉल की मेज़बानी की वोटिंग में भी शामिल किया.

नई जांच के मुताबिक एफबीआई के पास एक ख़त मिला है जिससे यह पता चलता है कि ब्लैटर को रिश्वत कांड की पूरी जानकारी थी.

जांच को आगे बढ़ाने के लिए एफबीआई ने स्विस अधिकारियों से जांच में मदद की मांगी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार