कौन बिकेगा महंगा, धोनी या जडेजा?

इमेज कॉपीरइट Getty

महेंद्र सिंह धोनी, रवींद्र जडेजा, सुरेश रैना, मोहित शर्मा और आर अश्विन यानी भारत की लगभग आधी टीम अब शायद ही आईपीएल में एक साथ एक ही टीम में खेलती नज़र आए.

दरअसल यह सभी खिलाड़ी आईपीएल में अभी तक चेन्नई सुपर किंग्स टीम का हिस्सा थे.

पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद आईपीएल-6 में कथित सट्टेबाज़ी और स्पॉट फ़िक्सिंग से चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के सहमालिकों के जुड़े होने के सबूत पाए जाने के बाद इन दोनों टीमों पर दो साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था.

इससे इन टीमों से जुड़े खिलाड़ियों के भविष्य पर भी सवाल खड़ा हो गया था.

अब जबकि आठ दिसंबर को दिल्ली में हुई रिज़र्व बोली प्रक्रिया के बाद पुणे और राजकोट आईपीएल-9 से जुड़ चुकी हैं तो यह मसला समाप्त होता नज़र आ रहा हैं.

इमेज कॉपीरइट PTI

अब मंगलवार को इन खिलाड़ियों के अलावा राजस्थान रॉयल्स से जुड़े अजिंक्य रहाणे, स्टुअर्ट बिन्नी, ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टिव स्मिथ और पूर्व खिलाड़ी शेन वाटसन, संजू सैमसन, जेम्स फ़ॉकनर का भी फ़ैसला होगा.

चेन्नई सुपर किंग्स से जुड़े न्यूज़ीलैंड के कप्तान और आक्रामक बल्लेबाज़ ब्रैंडन मैकुलम, वेस्टइंड़ीज़ के ड्वेन ब्रावो और भारत के पूर्व आलराउंडर इरफ़ान पठान पर भी सबकी नज़रे रहेंगी.

इमेज कॉपीरइट AP

मगंलवार को चेन्नई और राजस्थान रॉयल्स से जुड़े लगभग 50 खिलाड़ियों को सूची में रखा जाएगा. खिलाड़ियों को चुनने का काम मुंबई क्रिकेट संघ के बांद्रा कुर्ला परिसर में होगा. पुणे और राजकोट फ्रैंचाइज़ी को अधिकतम पांच खिलाड़ियों को चुनने का अवसर मिलेगा.

जिन खिलाड़ियों की मंगलवार को नीलामी नहीं हो सकेगी, उन्हें अगले साल फ़रवरी में होने वाली खिलाड़ियों की नीलामी में रखा जाएगा.

खिलाड़ियों को चुनने का पहला अवसर पुणे को दिया जाएगा क्योंकि उसने दो साल के लिए नई टीम ख़रीदने के लिए सबसे कम बोली लगाई थी.

इमेज कॉपीरइट AP

यह देखना दिलचस्प होगा कि महेंद्र सिंह धोनी और रवींद्र जडेजा के लिए कितनी बोली लगती हैं.

दरअसल दोनो टीमें सबसे पहले उस खिलाड़ी को चुनना चाहेंगी जो दो साल तक टीम की कमान तो संभाल ले, साथ ही उसकी ब्रांड वैल्यू भी हो.

धोनी भले ही टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं लेकिन उनकी लोकप्रियता में कमी नहीं आई है. वहीं राजकोट फ्रैंचाइज़ी अपने स्थानीय खिलाड़ी और इन दिनों ज़बरदस्त फ़ॉर्म में चल रहे रवींद्र जडेजा को किसी भी क़ीमत पर ख़रीदना चाहेगी.

अब देखना है कि मगंलवार को किन 10 खिलाड़ियों पर पुणे और राजकोट फ्रैंचाइज़ी कितना पैसा ख़र्च करती हैं और कितना बाक़ी खिलाड़ियों के लिए बचा कर रखती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार