विराट का वो फ़ैन अफ़रीदी का क्यों हो गया?

kohli Pakistan Fan

पाकिस्तान में अपने घर पर भारतीय झंडा लहराने वाले विराट कोहली के फ़ैन उम्रदराज़ को ज़मानत पर रिहा कर दिया गया है.

पंजाब प्रांत के शहर ओकाड़ा में रहने वाले इस क्रिकेट प्रेमी ने अपनी रिहाई के बाद बीबीसी से कहा, "अब मैं कोहली का प्रशंसक नहीं हूँ, बल्कि शाहिद अफ़रीदी का प्रशंसक हूं."

उम्रदराज़ के मुताबिक़ कोहली की वजह से उन्हें तकलीफ़ पहुंची है, इसलिए अब वो कोहली को पसंद नहीं करते हैं.

अपनी रिहाई पर ख़ुशी जताते हुए उनका कहना था कि अनजाने में ग़लती हो गई थी.

जब उनसे पूछा गया कि खेल में तो किसी का भी समर्थन किया जा सकता है और भारतीय खिलाड़ी का प्रशंसक होना अपराध नहीं है तो उम्रदराज़ अड़े रहे कि अब वह सिर्फ़ शाहिद अफ़रीदी के ही प्रशंसक हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

पुलिस ने 25 जनवरी को ओकाड़ा के पास गांव चौवन बट्टा दोएल के रहने वाले उम्रदराज़ को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टी-20 क्रिकेट मैच में विराट कोहली के शानदार खेल और बाद में भारत की जीत की ख़ुशी में अपने मकान पर भारत का झंडा फहराने पर हिरासत में लिया था.

उम्रदराज़ के ख़िलाफ़ पुलिस ने शांति भंग के आरोप में मामला दर्ज किया था जिसमें अपराध सिद्ध होने पर अधिकतम 10 साल तक की सज़ा हो सकती है.

गिरफ़्तारी के समय उम्रदराज़ का कहना था कि वह भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली के प्रशंसक है और उनकी शानदार बल्लेबाज़ी की ख़ुशी में ही भारत का झंडा अपने घर पर लहराया था, और इसमें कोई दुर्भावना शामिल नहीं थी.

उनका कहना है कि जो भी हुआ वह अज्ञानता और अनजाने में हुआ.

ओकाड़ा के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश असदुल्लाह सिराज ने 50,000 रुपए के मुचलकों के बदले शुक्रवार को उम्रदराज़ को ज़मानत दे दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार