'भारत-पाक मैच का हो गया राजनीतिकरण'

  • 12 मार्च 2016
 भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच, उमेश यादव इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत और पाकिस्तान के बीच कोलकाता में होने वाले वर्ल्ड टी20 मैच का काफ़ी राजनीतिकरण कर दिया गया है.

जाने-माने क्रिकेट विश्लेषक प्रदीप मैग्ज़ीन का यही मानना है.

वह कहते हैं, "सबसे पहले हिमाचल सरकार ने कहा कि वह पाकिस्तान टीम की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी नहीं ले सकते. जिस वजह से पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड को भी मौका मिला गया इसे मुद्दा बनाने का."

इन्हीं कारणों की वजह से पाकिस्तान की टीम भारत देर से पहुँचेगी और उसे कोई प्रैक्टिस मैच खेलने का मौक़ा नहीं मिल पाएगा.

इमेज कॉपीरइट AFP

हालांकि मैग्ज़ीन मानते हैं कि इससे पाकिस्तान के फ़ॉर्म पर कोई ख़ास फर्क नहीं पड़ेगा.

वह कहते हैं, "एशिया कप में हमने पाकिस्तान का प्रदर्शन देखा और उससे पहले भी वह कोई बहुत अच्छा नहीं खेल रहे थे."

वह बताते हैं, "भारत में तो ऐसे विकेट होते हैं जहां उनके तेज़ गेंदबाज़ों को भी कोई मदद नहीं मिलेगी, और उनकी बल्लेबाज़ी वैसे ही कमज़ोर है. ऐसे में अगर वो प्रैक्टिस मैच खेल भी लेते तो कोई बहुत फ़र्क नहीं पड़ता."

हालांकि वह इसका फ़ायदा भी बताते हैं, "पाकिस्तानी टीम को पता है कि उनके लोगों को उनसे बहुत उम्मीदें नहीं हैं, ऐसे में उन पर कोई प्रेशर नहीं होगा तो वह दबावमुक्त होकर खेल सकते हैं."

इमेज कॉपीरइट Reuters

साथ ही उन्होंने भारतीय टीम की तारीफ़ की. उन्होंने कहा, "भारतीय टीम इस प्रतियोगिता में बतौर फ़ेवरिट उतरेगी. तो ज़ाहिर है उन पर काफ़ी दबाव होगा."

प्रदीप मैग्ज़ीन कहते हैं, "लेकिन वो पहले भी इस तरह के माहौल में खेल चुके हैं, तो मुझे लगता है कि वो इस टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करेंगे."

(क्रिकेट विश्लेषक प्रदीप मैग्ज़ीन से आदेश कुमार गुप्त की बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार