आफ़रीदी की बात में कुछ विवादास्पद नहीं: यूनुस

  • 15 मार्च 2016
शाहिद अफ़रीदी इमेज कॉपीरइट AP

भारत में 'ज़्यादा प्यार' मिलने के पाकिस्तान के क्रिकेटर शाहिद आफ़रीदी के बयान का समर्थन करते हुए पाक टीम के कोच वकार यूनुस ने कहा कि इस बयान में कुछ भी विवादास्पद नहीं है.

आफ़रीदी के इस बयान पर उन्हें एक वरिष्ठ पाकिस्तानी वकील ने क़ानूनी नोटिस भेजा है. पीटीआई के मुताबिक़ आफ़रीदी पर पाकिस्तानियों की भावना आहत करने और देशद्रोही के आरोप लगाए गए हैं.

विश्व टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट खेलने भारत पहुंची पाकिस्तान टीम के कप्तान आफ़रीदी ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, "हमेशा पाकिस्तान से ज़्यादा प्यार भारत में मिलता है."

वरिष्ठ वकील अज़हर सादिक़ ने पीटीआई को बताया, "मैंने शाहिद अाफ़रीदी और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष नजम सेठी को क़ानूनी नोटिस भेजा है. मैंने पीसीबी अध्यक्ष शहरयार ख़ान को भी लिखा है कि वह भारत में दिए गए अाफ़रीदी के बयान की जांच कराएं.'

आफ़रीदी को पाकिस्तान में लोगों की ज़बरदस्त आलोचना भी झेलनी पड़ रही है. सोशल मीडिया के साथ साथ कुछ पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने भी उन पर हल्ला बोल दिया है.

इमेज कॉपीरइट AP

पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने कहा है कि इन खिलाड़ियों (शाहिद आफ़रीदी और शोएब मलिक) को ऐसे बयान देने के लिए 'शर्म आनी' चाहिए.

पाकिस्तान के 'आज टीवी' पर मियांदाद ने कहा था, "इन खिलाड़ियों को ऐसा कहने के लिए ख़ुद पर शर्म आनी चाहिए. लानत है तुम पर."

उन्होंने आगे कहा, "भारतीयों ने हमें दिया क्या है? जब भारत में रहो तब भी सच ही बोलो. पिछले पांच साल से उन्होंने हमें या पाकिस्तान क्रिकेट को क्या दिया है? पाकिस्तान क्रिकेट की इतने साल तक सेवा करने के बाद अपने खिलाड़ियों की ऐसी टिप्पणियां सुनकर मैं दुखी हूं."

पाकिस्तान के पूर्व टेस्ट ओपनर और मुख्य कोच मोहसिन ख़ान ने भी अफ़रीदी और शोएब मलिक के बयानों पर अचरज जताते हुए कहा था, "वे वरिष्ठ खिलाड़ी हैं और उन्हें मीडिया से बोलते समय थोड़ा सावधान रहना चाहिए, ख़ासकर भारत के दौरे में."

इमेज कॉपीरइट AFP

ट्विटर पर पाकिस्तानियों ने भी आफ़रीदी के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया. कई टीवी न्यूज़ चैनलों पर भी उनके बयान की आलोचना हुई.

ट्विटर पर @Asim4pakistan ने लिखा, "शाहिद आफ़रीदी से इसी घटिया बयान की उम्मीद की जा सकती थी."

पत्रकार उमर क़ुरैशी (@omar_quraishi) ने ट्वीट किया, "लाला (आफ़रीदी) ने साबित कर दिया कि वो आगे जाकर पक्के राजनेता बनेंगे."

@mainbhiengineer ने कहा, "आफ़रीदी को भारत में ज़्यादा प्यार क्यों नहीं मिलेगा. भला कौन ऐसे विपक्षी बल्लेबाज़ से इश्क़ नहीं करेगा जो 2 गेंदों पर ज़ीरो पर आउट हो जाता है."

इमेज कॉपीरइट AP.Getty

@Dartanveerah के ट्विटर हैंडल पर आफ़रीदी के पुराने बयान को लिखा है जिसमें आफ़रीदी ने कहा था, "भारत के लोग उतने बड़े दिल के नहीं होते जितने हम हैं."

@iMohsinMustafa ने लिखा, "आफ़रीदी के बयान को दिल पे ना लें प्लीज़. रिटायरमेंट के बाद इंडिया जाकर उन्हें कमेंट्री भी तो करनी है."

@NeyazKamal10 ने कहा, "तो ठीक है उनसे मोहब्बत करने वाले लोगों के बीच आफ़रीदी इंडिया में ही रहें. पाकिस्तान लौटकर ना आएं."

मंज़ूर आलम ने तंज कसते हुए लिखा, "दरअसल आफ़रीदी ये बयान देकर अपील कर रहे थे कि इंडिया हमें बुरी तरह से ना हराए."

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन आफ़रीदी के बचाव में भी कई लोग सामने आए हैं.

मलिक मुराद ने ट्वीट किया, "आफ़रीदी. आलोचना करने वालों पर ध्यान मत दो. पूरा पाकिस्तान तुम्हारे साथ है. ऑल द बेस्ट."

@91Shahji ने लिखा, "मुझे लगता है आफ़रीदी के बयान का ग़लत मतलब निकाला जा रहा है. उन्होंने पूरी समझदारी से बड़ी डिप्लोमेटिक बात कही जो मौक़े की नज़ाकत के हिसाब से थी."

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार