मुस्तफ़िज़ुर हैं भारत के लिए सबसे बड़ा ख़तरा?

  • 23 मार्च 2016
टीम इंडिया इमेज कॉपीरइट AFP

विश्व कप टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में बुधवार को बैंगलुरू में ग्रुप-2 में मेज़बान भारत का सामना बांग्लादेश से होगा.

इस मैच में बांग्लादेश के तेज़ गेंदबाज़ मुस्तफ़िज़ुर रहमान पर सबकी नज़रें ख़ास तौर पर टिकी हैं.

वह अभी तक 11 टी-20 अंतराष्ट्रीय मैचों में 15 विकेट अपने नाम कर चुके हैं.

वह तब सुर्खियों में आए जब उन्होने अपने पहले ही एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय मैच में भारत के ख़िलाफ़ 50 रन देकर पांच विकेट झटके और भारत को हार से रूबरू कराया.

अगले ही मैच में उन्होने और भी कमाल करते हुए 43 रन देकर 6 विकेट हासिल किये.

उनके दम पर बांग्लादेश ने पहली बार भारत से कोई एकदिवसीय सिरीज़ 2-1 से जीती थी.

इमेज कॉपीरइट AFP

वैसे बांग्लादेश को इस विश्व कप में तब बड़ा झटका लगा जब उसके दो गेंदबाज़ तस्कीन अहमद और अराफ़ात सनी अपने ग़लत गेंदबाज़ी एक्शन के कारण निलंबित हो गए.

तेज़ गेंदबाज़ तस्कीन अहमद ने मौजूदा विश्व कप में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 32 रन देकर 2 विकेट हासिल किए थे.

इससे पहले एशिया कप में वह अपनी टीम का नियमित हिस्सा थे.

तस्कीन ने अभी तक 13 टी-20 अंतराष्ट्रीय मैचों में 11 विकेट हासिल किए हैं. वह क़िफायती गेंदबाज़ माने जाते हैं.

स्पिनर अराफ़ात सनी ने निलंबित होने से पहले 10 टी-20 अंतराष्ट्रीय मैचों में 12 विकेट लेकर अपनी उपयोगिता साबित की थी.

उनकी जगह टीम में शामिल किए गए सक़लेन साजिब ने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ 3.3 ओवर में ही 40 रन दे डाले.

इमेज कॉपीरइट AFP

बांग्लादेश की ऐसी स्थिति को लेकर भारत के तेज़ गेंदबाज़ आशीष नेहरा मानते है कि टी-20 क्रिकेट में कोई भी टीम किसी को भी टक्कर दे सकती है.

तस्कीन अहमद महत्वपूर्ण गेंदबाज़ रहे हैं, लेकिन अब दूसरे तेज़ गेंदबाज़ मुस्तफ़िज़ुर रहमान भी फिट हो गए हैं जो पिछले दो मुक़ाबले नही खेल सके थे.

इनके अलावा तेज़ गेंदबाज़ अल-अमीन-हुसैन हैं और शाकिब-अल-हसन बेहतरीन आलराउंडर हैं.

इनके रहते उनकी गेंदबाज़ी में गहराई है. ऐसे में नही लगता कि दो गेंदबाज़ों के बाहर जाने से उनकी गेंदबाज़ी कमज़ोर हुई है.

इमेज कॉपीरइट Focus Bangla

वैसे बांग्लादेश को सलामी बल्लेबाज़ तमीम इक़बाल के अनफिट होने से बहुत बड़ा नुकसान हुआ.

वह ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पिछला मैच नही खेल पाए थे.

इसके पहले उन्होनें पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 24, क्वालिफॉयर मैचों में ओमान के ख़िलाफ़ नाबाद 103, ऑयरलैंड के ख़िलाफ़ 47 और नीदरलैंड्स के ख़िलाफ़ नाबाद 83 रन बनाकर अपना जलवा दिखाया था.

वैसी फॉर्म पिछले कुछ समय में भारत के विराट कोहली ही दिखा सके हैं.

ऐसे में बुधवार को उनका फिट होकर खेलना भारत पर दबाव बना सकता है.

उनके अलावा सलामी बल्लेबाज़ सोम्य सरकार और महमूदुल्लाह तथा शाकिब-अल-हसन कभी भी तेज़ रफ्तार से रन बनाने की क्षमता रखते हैं.

अपने पहले ही मुक़ाबलें में न्यूज़ीलैंड से 47 रनों से हारने के बाद भारत ने अगले मैच में पाकिस्तान को 6 विकेट से मात दी थी.

भारत के लिए थोड़ी चिंता रोहित शर्मा, शिखर धवन और सुरेश रैना की फॉर्म है, वैसे भारतीय गेंदबाज़ अपना काम बख़ूबी कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

दूसरी तरफ बांग्लादेश अपना पहला मैच पाकिस्तान से 55 रनों से हारा था.

इसके बाद उसे ऑस्ट्रेलिया के हाथों तीन विकेट से हार का सामना करना पडा.

लगातार दो हार के साथ ही बांग्लादेश का सेमीफाइनल में पहुंचने का सपना भी टूट गया. यानी अब उसके पास खोने के लिए कुछ भी नही है.

ऐसे में बैंगलुरू में होने वाले मुक़ाबलें में वह बेफ्रिक होकर बिना किसी दबाव के खेल सकता है.

इससे पहले भारत और बांग्लदेश चार बार टी-20 में आमने-सामने हुए हैं, हर बार भारत जीता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार