वॉर्नर और फ़ॉकनर से बच पाएगी टीम इंडिया?

टीम इंडिया इमेज कॉपीरइट AFP

विश्व कप टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में रविवार को भारत का सामना मोहाली में ऑस्ट्रेलिया से होगा.

ग्रुप-2 के इस मुक़ाबले का विजेता सेमीफ़ाइनल में अपनी जगह बना लेगा जबकि हारने वाली टीम का अभियान समाप्त हो जाएगा.

न्यूज़ीलैंड लगातार चार जीत के साथ पहले ही सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर चुका है.

इमेज कॉपीरइट AFP

ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ चार विकेट खोकर 193 रन बनाए, वहीं भारत का इस विश्व कप में सर्वोच्च स्कोर बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 9 विकेट खोकर 146 रन है.

भारतीय टीम न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ जीत के लिए 127 रनों का पीछा करते हुए केवल 79 रनों पर ढ़ेर हो गई थी और वह भी 18.1 ओवर में.

इसके बाद उसने पाकिस्तान को 6 विकेट से हराया. जानकारों के मुताबिक भारत जिन विकेटों पर खेला, वो स्पिनरों की मददगार थीं.

अभी तक तो गेंदबाज़ों ने ही इस विश्व कप में भारत को बचाए रखा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

मोहाली में कैसा विकेट मिलेगा अभी कहना मुश्किल है.

वहीं ऑस्ट्रेलिया ने डेविड वार्नर को सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर उतारा तो वह उस्मान ख्वाजा के साथ मिलकर ठोस शुरूआत दे सकते हैं.

अभी तक वार्नर नम्बर तीन या नम्बर चार पर बल्लेबाज़ी करने उतरे हैं.

कप्तान स्टीव स्मिथ पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 43 गेंदों पर नाबाद 61 रन बनाकर फॉर्म में आ चुके हैं.

इस विश्व कप के बाद अंतराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले शेन वॉटसन ने तो भारत के ख़िलाफ़ खेले गए पिछले टी-20 मुक़ाबले में शतक जमाया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

वॉटसन ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ नाबाद 44 और ग्लेन मैक्सवैल ने 30 रनों का योगदान दिया.

इसके बाद जेम्स फ़ॉकनर ने भी अपना जलवा दिखाते हुए 27 रन देकर पांच विकेट हासिल किए.

इन्हीं खिलाड़ियों से भारत को बचकर रहना होगा.

इस विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के लैग स्पिनर एडम ज़ैम्पा ने बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 23 रन देकर तीन और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 32 रन देकर दो विकेट हासिल किए.

अगर मोहाली में टर्निंग विकेट मिला तो ज़ैम्पा के अलावा ग्लेन मैक्सवैल दूसरे स्पिनर की भूमिका निभाएंगे.

दूसरी तरफ भारत के सलामी बल्लेबाज़ रोहित शर्मा अभी तक तीन मैचों में केवल 33, शिखर धवन 30 और सुरेश रैना 31 रन ही बना सके हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

विराट कोहली ने ज़रूर पाकिस्तान के ख़िलाफ नाबाद 55 रनों की पारी खेली जब एक समय भारत के तीन विकेट केवल 23 रन पर गिर चुके थे.

युवराज सिंह भी तीन मैचों में 31 रन बना सके है.

टी 20 में भारत और ऑस्ट्रेलिया 12 बार आमने-सामने हुए हैं. भारत ने 8 मैच जीते हैं 4 हारे हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

अब एक बार फिर आशीष नेहरा, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या और स्पिनर आर अश्विन के अलावा रविंद्र जडेजा की परीक्षा की घड़ी है.

सभी ने क़िफ़ायती गेंदबाज़ी की है और समय पर विकेट भी लिए हैं.

अब जब दोनो टीमों के लिए यह करो या मरो वाला मैच है तो दबाव दोनों टीमों पर ही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार