कपिल नहीं, बॉथम का है नो बॉल न डालने का रिकॉर्ड

वर्ल्ड टी-20 सेमीफ़ाइनल में वेस्ट इंडीज़ के ख़िलाफ़ भारत की हार की सबसे बड़ी वजह नो बॉल मानी गई.

इसको लेकर सोशल मीडिया पर टीम इंडिया की ख़ूब आलोचना हो रही है और साथ में एक जानकारी भी शेयर की जा रही है कि भारत के तेज़ गेंदबाज़ कपिल देव ने अपनी ज़िंदगी में कभी नो बॉल नहीं फेंकी.

कपिल देव निश्चित तौर पर अपने समय में बेहद अनुशासित गेंदबाज़ थे, लेकिन ऐसा भी नहीं था कि उन्होंने अपनी जिंदगी में कभी नो बॉल नहीं फेंकी.

कपिल के जमाने में टी-20 तो होते नहीं थे लेकिन उन्होंने 131 टेस्ट मैचों के अपने करियर में कुल 20 दफ़े नो बॉल फेंकी थीं.

इमेज कॉपीरइट adren murel

भारतीय सोशल मीडिया पर भले कपिल को नो बॉल नहीं फेंकने वाले गेंदबाज़ के तौर पर पेश किया जा रहा हो, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में ये कारनामा दुनिया के कुछ दूसरे मशहूर गेंदबाज़ों के नाम रहा है.

इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ और ऑलराउंडर इयन बॉथम ने अपने 102 टेस्ट के करियर में कभी नो बॉल नहीं फेंकी. वे इकलौते ऐसे गेंदबाज़ हैं जिन्होंने 100 से ज़्यााद टेस्ट मैच खेलने के बावजूद नो बॉल नहीं फेंकी.

पाकिस्तानी ऑलराउंडर इमरान ख़ान ने भी 88 टेस्ट मैचों के अपने करियर में कभी नो बॉल नहीं डाली.

इन दोनों के अलावा टेस्ट क्रिकेट में तीन सौ से ज़्यादा विकेट चटकाने वाले चार और गेंदबाज़ हैं जिन्होंने अपने करियर में कभी नो बॉल नहीं फेंकी.

इमेज कॉपीरइट Getty

ऑस्ट्रेलिया के डेनिस लिलि ने 70 टेस्ट मैचों के अपने करियर में कभी नो बॉल नहीं फेंकीं.

इन सबके अलावा इंग्लैंड के बॉब विलिस ने भी 90 टेस्ट मैच के करियर में और फ्रेड ट्रूमैन ने 67 टेस्ट मैचों के अपने करियर में कभी नो बॉल नहीं फेंकी.

इन सबके अलावा वेस्ट इंडीज़ के स्पिनर लांस गिब्स ने भी कभी नो बॉल और वाइड के रूप मे अतिरिक्त गेंदें नहीं फेंकी.

न्यूज़ीलैंड के तेज़ गेंदबाज़ रिचर्ड हैडली ने 86 टेस्ट मैचों के अपने पूरे करियर में महज दो बार नो बॉल डाली.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार