रियो ओलंपिक: कुछ एथलीटों पर लगेगी पाबंदी?

  • 17 मई 2016
इमेज कॉपीरइट Reuters

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) ने कहा है कि छह अलग-अलग खेल मुक़ाबलों से जुड़े क़रीब 31 एथलीटों के रियो ओलंपिक में खेलने पर पाबंदी लगाई जा सकती है.

आईओसी ने बीजिंग में हुए 2008 ओलंपिक से क़रीब 454 डोपिंग सैम्पल्स की फिर से जाँच की और उसके बाद ये घोषणा की.

समिति का कहना है कि ये जाँच नए वैज्ञानिक तरीक़ों से की गई है.

आईओसी का ये भी कहना है कि 2012 के लंदन ओलंपिक से जुटाए गए 250 सैमपल्स की भी फिर से जाँच हुई है और इसके नतीजों का इंतज़ार है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

आईओसी के अध्यक्ष टॉमस बाख़ ने कहा, "ये सभी क़दम उन धोखेबाज़ खिलाड़ियों पर कार्रवाई के तहत उठाए गए हैं, जिन्हें हम जीतने नहीं देंगे. डोपिंग करने वाले खिलाड़ियों के छुपने की कोई जगह नहीं है. हम सैंपल को 10 साल तक रखते हैं ताकि धोखेबाज़ों को कभी राहत न मिले."

उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में एथलीटों पर पाबंदी लगाकर वे यह दिखाना चाहते हैं कि ओलंपिक की भावना की हर हाल में रक्षा की जाएगी और ये उनकी प्रतिबद्धता है.

आईओसी का कहना है कि 12 राष्ट्रीय ओलंपिक एसोसिशन इस फ़ैसले से प्रभावित होंगे और आने वाले दिनों में उन्हें इसकी सूचना दी जाएगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार