फ़्रांस ने नेता समेत 20 रूसी फ़ैन्स को बाहर निकाला

यूरो 2016 इमेज कॉपीरइट AFP

फ़्रांस के मार्सेई में हो रहे यूरो 2016 में इंग्लैंड-रूस के फ़ुटबॉल मैच में हुई हिंसा के बाद रूसी फ़ुटबॉलर सपोर्टर एसोसिएशन के 'दक्षिणपंथी' नेता को फ़्रांस से बाहर भेजने कै आदेश दिया गया है.

अलेक्सांद्र शप्रिगिन उन 20 रूसी समर्थकों में शामिल हैं जिन्हें फ़्रांस से प्रत्यर्पित किया जा रहा है.

इन लोगों को मंगलवार को हिरासत में लिया गया था जब वो रूस और स्लोवाकिया के बीच होने वाला मैच देखने के लिए मार्सेई से लिले जा रहे थे.

इन गिरफ़्तारियों पर रूस ने नाराज़गी ज़ाहिर की है और विरोध में फ़्रांस के राजदूत को तलब किया है.

माना जाता है कि शप्रिगिन के संगठन ऑल रशियन सपोर्टर्स यूनियन को राष्ट्रपति पुतिन का समर्थन हासिल है.

इमेज कॉपीरइट Getty

ख़बरों के अनुसार, शप्रिगिन वैचारिक रूप से कट्टर दक्षिणपंथी हैं और नाज़ी सैल्यूट करते हुए उनकी तस्वीरें भी आई थीं.

बीते शनिवार को रूस और इंग्लैंड के बीच मुकाबले के पहले और बाद में दोनों देशों के समर्थकों के बीच हिंसा हुई थी.

रूस और इंग्लैंड को चेतावनी दी जा चुकी है कि अगर उनके समर्थक हिंसा करना जारी रखते हैं तो दोनों टीमों को यूरो 2016 टूर्नामेंट से बाहर किया जा सकता है

वेल्स के साथ इंग्लैंड के मैच के पहले रात में फ़्रांसीसी पुलिस और इंग्लैंड के फ़ुटबॉल समर्थकों के बीच हुई झड़प के बाद बुधवार को 36 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

लिले में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. इस टूर्नामेंट के शुरू होने के बाद से अब तक फ़्रांस की पुलिस ने 300 लोगों को ग़िरफ़्तार किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार