http://www.bbcchindi.com

फ़ाइनल से पहले ऑस्ट्रेलिया को झटका

त्रिकोणीय सिरीज़ के फ़ाइनल से पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम श्रीलंका के हाथों हार गई है. ऑस्ट्रेलिया और भारत की टीमें पहले ही फ़ाइनल में पहुँच चुकी हैं.

लेकिन आख़िरी लीग मैच में श्रीलंका ने विश्व चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया को 13 रनों से हरा दिया. जीत के लिए 222 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही ऑस्ट्रेलिया की टीम 208 रन बनाकर आउट हो गई.

मेलबोर्न में हुए वनडे मैच में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए श्रीलंका की टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 221 रन बनाए. ख़राब शुरुआत के बाद कप्तान महेला जयवर्धने और तिलकरत्ने दिलशान की शानदार पारी के कारण श्रीलंका की टीम इतना बड़ा स्कोर खड़ा कर सकी.

जयवर्धने ने 50 रन बनाए जबकि दिलशान ने सर्वाधिक 62 रन बनाए. ऑस्ट्रेलिया की ओर से नाथन ब्रैकेन ने 29 रन देकर चार विकेट चटकाए. ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका के 221 रन के जवाब में शानदार शुरुआत की.

मेलबोर्न में अपना आख़िरी मैच खेल रहे एडम गिलक्रिस्ट ने धमाकेदार पारी खेली. हालाँकि दर्शक काफ़ी कम संख्या में मौजूद थे लेकिन उन्होंने गिलक्रिस्ट की पारी का जमकर मज़ा लिया.

गिलक्रिस्ट और जेम्स होप्स ने पहले विकेट की साझेदारी में 107 रन जोड़े. जेम्स होप्स 28 रन बनाकर आउट हुए. इसके तुरंत बाद गिलक्रिस्ट भी छक्का लगाने की कोशिश में आउट हो गए. उन्होंने सिर्फ़ 50 गेंद पर 12 चौके और दो छक्के लगाए.

ख़राब बल्लेबाज़ी

गिलक्रिस्ट के आउट होने के बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम जैसे बैकफ़ुट पर आ गई. एक के बाद एक खिलाड़ी पवेलियन लौटने लगे. एक समय ऑस्ट्रेलिया का स्कोर हो गया था छह विकेट पर 123 रन.

कप्तान रिकी पोंटिंग सिर्फ़ एक रन बना पाए जबकि माइकल क्लार्क और एंड्रयू साइमंड्स अपना खाता भी नहीं खोल पाए. माइकल हसी पाँच और ब्रैड हैडिन सात रन बनाकर आउट हुए.

लेकिन आख़िर में ब्रैड हॉग, ब्रेट ली और नाथन बैक्रेन ने संघर्षपूर्ण पारी खेली और एक समय तो ऐसा लगा कि ऑस्ट्रेलिया मैच जीत जाएगा. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के विकेट गिरते रहे.

और पूरी टीम 208 रन बनाकर आउट हो गई. ब्रेट ली ने 37 और ब्रैड हॉग ने 21 रन बनाए. जबकि नाथन ब्रैकेन 14 रन बनाकर नाबाद रहे.

श्रीलंका की ओर से अमरसिंघे ने तीन विकेट लिए. जबकि कुलशेखरा और मुरलीधरन को दो-दो विकेट मिले. हालाँकि इस जीत के बावजूद श्रीलंका की टीम प्रतियोगिता से बाहर हो चुकी है.

भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें पहले ही फ़ाइनल में जगह बना चुकी हैं. मैच जीतने के बाद श्रीलंका के कप्तान महेला जयवर्धने ने कहा कि मैच जीतने के बाद टीम के हौसले बुलंद हैं.

हालाँकि उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि प्रतियोगिता के दौरान टीम को कई मौक़े मिले थे लेकिन टीम ने इसका फ़ायदा नहीं उठाया.