BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
शनिवार, 26 अप्रैल, 2008 को 05:18 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
बीसीसीआई ने हरभजन से स्पष्टीकरण माँगा
 
श्रीसंत और हरभजन सिंह
भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे के समय भी हरभजन विवादों में घिरे रहे थे
भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलिया के दौरे में विवादों में घिरे हरभजन सिंह एक बार फिर सुर्खियों में हैं. इस उनके और श्रीसंत के बीच इंडियन प्रीमियर लीग के मोहाली मैच के बाद हुई झड़प ने सुर्खियों में घसीटा है.

भारतीय मीडिया में ये ख़बर छाई हुई है कि मोहाली मैच में किंग्स इलेवन पंजाब के मुंबई इंडियंस को हराने के बाद हरभजन ने मैदान पर ही श्रीसंत को तमाचा मारा.

हालाँकि मीडिया के पूछने पर दोनों हरभजन और श्रीसंत इसका सीधा जवाब देने से कतराते नज़र आए लेकिन 'दोनो ने ही माना की मैच के बाद कुछ कहा-सुनी हुई लेकिन अब सब ठीक है.'

समाचार एजेंसियों के अनुसार भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने हरभजन से उनके बर्ताव के बारे में स्पष्टीकरण माँगा है. समाचार एजेंसियों ने बीसीसीआई सचिव निरंजन शाह के हवाले से कहा है कि हरभजन को स्पष्टीकरण सोमवार शाम तक देना होगा.

भारतीय टीवी चैनलों पर दिखाया गया कि मैच के बाद श्रीसंत रो रहे थे जबकि उनकी टीम के कुछ सदस्य उन्हें दिलासा से रहे थे.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया फ़िलहाल नहीं आई है.

'मैं गंभीरता से नहीं लेता'

 मैं इसे गंभीरता से नहीं ले रहा. हाँ, मुझे बुरा लगा था लेकिन हम दोनों को ही अभी एक-साथ काफ़ी खेलना है. मैं चाहता हूँ कि जो हो गया उसे भुला दिया जाए...
 
श्रीसंत

समाचार एजेंसियों के अनुसार जब श्रीसंत से इस बारे में पूछा गया तो उनका कहना था, "नहीं तमाचा तो नहीं...शायद हाथ ग़लत जगह मिलाया गया. "

जब श्रीसंत से पत्रकारों ने विस्तार से इस घटना के बारे में पूछा तो उनका कहना था, "मैं इसे गंभीरता से नहीं ले रहा. हाँ, मुझे बुरा लगा था लेकिन हम दोनों को ही अभी एक-साथ काफ़ी खेलना है. मैं चाहता हूँ कि जो हो गया उसे भुला दिया जाए..."

उधर हरभजन सिंह से पूछने पर उन्होंने मीडिया के सवालों को सीधा जवाब नहीं दिया.

'श्रीसंत छोटे भाई समान'

 ये कोई बड़ा मुद्दा नहीं है. जहाँ तक हमारा सवाल है, ये मुद्दा हल हो चुका है. श्रीसंता मेरे छोटे भाई के समान हैं. हम दोनों ने साथ बैठकर बात की है - ये हमारा आपस का मामला है
 
हरभजन सिंह

उनका कहना था,"ये कोई बड़ा मुद्दा नहीं है. जहाँ तक हमारा सवाल है, ये मुद्दा हल हो चुका है. श्रीसंता मेरे छोटे भाई के समान हैं. हम दोनों ने साथ बैठकर बात की है - ये हमारा आपस का मामला है. मैनें केवल धक्का सा मारा था... हो सकता है ज़ोर से लग गया हो..."

उधर किंग्स इलेवन पंजाब के युवराज सिंह ने मैच के बाद कहा, "जीत के बाद हर व्यक्ति ख़ुश होता है लेकिन इस घटना से मैं कुछ परेशान तो हूँ. लेकिन हरभजन ने श्रीसंत से बात की है और मुझे उम्मीद है कि उन्होंने श्रीसंत से माफ़ी भी माँगी होगी."

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
भारत ने जीता पहला फ़ाइनल मुक़ाबला
02 मार्च, 2008 | खेल की दुनिया
'शानदार रही सचिन और रोहित की पारी'
02 मार्च, 2008 | खेल की दुनिया
फ़ाइनल से पहले ऑस्ट्रेलिया को झटका
29 फ़रवरी, 2008 | खेल की दुनिया
ऑस्ट्रेलिया टीम को अलविदा कहेंगे हॉग
27 फ़रवरी, 2008 | खेल की दुनिया
हरभजन मामले में हेडन को फटकार
27 फ़रवरी, 2008 | खेल की दुनिया
इंटरनेट लिंक्स
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>