BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
गुरुवार, 01 मई, 2008 को 02:31 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
शोएब नहीं खेल सकेंगे आईपीएल में
 
शोएब अख़्तर
शोएब अख़्तर ने पीसीबी के चेयरमैन नसीम अशरफ़ से माफ़ी माँग ली है
पाँच साल तक प्रतिबंध के ख़िलाफ़ तेज़ गेंदबाज़ शोएब अख़्तर अपील पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने ख़ारिज कर दी है.

इसका मतलब यह है कि उन्हें पाकिस्तान की टीम में खेलने का अवसर नहीं मिल सकेगा, हालांकि उन्हें अपने देश की टीम के अलावा दूसरी जगह खेलने की छूट दी गई है.

लेकिन इस फ़ैसले के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने साफ़ कर दिया है कि अगर शोएब अख़्तर अपने देश के लिए नहीं खेल सकते तो वे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के लिए भी नहीं खेल सकेंगे.

उल्लेखनीय है कि लगातार अनुशासनहीनता के आरोप में शोएब अख़्तर पर पीसीबी ने पाँच साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया था.

पीसीबी के इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ शोएब अख़्तर ने अपील की थी लेकिन तीन सदस्यों के एक ट्राइब्यूनल ने लाहौर में सुनवाई करते हुए उनकी अपील ख़ारिज कर दी है.

उनके वकील ने कहा है कि आईपीएल के राज़ी न होने की सूरत में वे ट्राइब्यूनल से एक बार फिर सुनवाई करने की अपील करेंगे.

फ़ैसले

बुधवार को हुई सुनवाई के बाद पीसीबी की ओर से जारी बयान में कहा गया है, "फ़िलहाल हमारी राय है कि शोएब अख़्तर पाकिस्तान से बाहर कहीं भी खेलने के लिए स्वतंत्र हैं."

 हमारा मक़सद शोएब अख़्तर को इस स्तर पर प्रतिबंधित करना नहीं है. वे आईपीएल में खेल सकते हैं. हालांकि वे पाकिस्तान के लिए राष्ट्रीय स्तर पर और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नहीं खेल सकेंगे
 
पीसीबी

पीसीबी ने कहा है, " हमारा मक़सद शोएब अख़्तर को इस स्तर पर प्रतिबंधित करना नहीं है. वे आईपीएल में खेल सकते हैं. हालांकि वे पाकिस्तान के लिए राष्ट्रीय स्तर पर और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नहीं खेल सकेंगे."

और इस फ़ैसले के बाद बीसीसीआई ने भी अपना फ़ैसला सुना दिया है.

आईपीएल की नीति निर्धारक परिषद के सदस्य आईएस बिंद्रा ने कहा, "यदि कोई खिलाड़ी अपने देश के लिए नहीं खेल सकता तो उसे आईपीएल में भी खेलने की अनुमति नहीं दी जा सकती."

उन्होंने बीबीसी से कहा, "जब तक वे पाकिस्तान की टीम में वापस नहीं आ जाते उन्हें आईपीएल में नहीं लिया जा सकता."

उल्लेख़नीय है कि शोएब अख़्तर को कोलकाता नाइट राइडर्स ने मोटी बोली लगाकर अपनी टीम में रखा था लेकिन पीसीबी के प्रतिबंध के कारण वे आईपीएल के मैच नहीं खेल पा रहे हैं.

विवादित पारी

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर 32 वर्षीय शोएब अख़्तर का करियर हमेशी ही विवादों से घिरा रहा है.

उनके साथ पहला विवाद तब जुड़ा था जब पाकिस्तान की टीम वेस्टइंडीज़ के दौरे पर थी.

उनकी बॉलिंग एक्शन को लेकर विवाद रहा है और गेंद से छेड़छाड़ और नियमों के उल्लंघन के लिए उन पर प्रतिबंध भी लगाया जा चुका है.

अक्तूबर 2006 में हुए एक परीक्षण में उन पर प्रतिबंधित दवा लेने का आरोप लगा और उनके खेलने पर रोक लगा गई थी लेकिन बाद में एक अपील में इस रोक को हटा लिया गया.

फिर टवेन्टी-20 विश्व कप से पहले शोएब और उनके साथी मोहम्मद आसिफ़ के बीच झड़प हुई थी और आरोप है कि उन्होंने आसिफ़ पर बैट से हमला कर दिया था. इसके बाद शोएब पर 13 अंतरराष्ट्रीय मैचों का प्रतिबंध लगाया गया.

शोएब ने 46 टेस्ट मैचों में 178 विकेटें और 138 वनडे मैचों में 219 विकेट लिए हैं.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
प्रतिबंध के ख़िलाफ़ शोएब की अपील
04 अप्रैल, 2008 | खेल की दुनिया
शोएब को आईपीएल की लाल झंडी
03 अप्रैल, 2008 | खेल की दुनिया
शोएब पर पाँच साल का प्रतिबंध लगा
01 अप्रैल, 2008 | खेल की दुनिया
सबसे अधिक बोली लगी धोनी की
20 फ़रवरी, 2008 | खेल की दुनिया
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>