BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
रविवार, 25 मई, 2008 को 13:35 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
बंगलौर ने डेकन चार्जर्स को हराया
 
गिब्स
गिब्स ने गिलक्रिस्ट के साथ मिलकर अच्छी साझेदारी निभाई
हैदराबाद में हुए आईपीएल मैच में बंगलौर रॉयल चैलेंजर्स ने डेकन चार्जर्स को रोमांचक मैच में पाँच विकेट से हरा दिया है.

डेकन चार्जर्स ने बंगलौर रॉयल चैलेंजर्स के सामने जीत के लिए 166 रनों का लक्ष्य रखा था. इस लक्ष्य को बंगलौर ने छह गेंद रहते हासिल कर लिया.

दोनों टीमें पहले ही सेमीफ़ाइनल से बाहर हो चुकी हैं. पर आईपीएल अंक तालिका में सबसे अंक हासिल करने वाली टीम बनने से बचने के लिए ये मैच दोनों जीतना चाहती थीं.

डेकन चार्जर्स ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ की और 20 ओवरों में 165 रन बनाए.

एडम गिलक्रिस्ट और गिब्स ने डेकन चार्जर्स की टीम को बढ़िया शुरुआत दी. पहले विकेट की साझेदारी में दोनों ने 101 रन जोड़े. गिब्स 47 रन बनाकर कुंबले की गेंद पर आउट हुए.

इसके कुछ देर बाद ही गिलक्रिस्ट भी आउट हो गए. उन्हें विनय कुमार ने 46 के निजी स्कोर पर आउट किया. गिब्स और गिलक्रिस्ट के आउट होने के बाद वेणुगोपाल राव और कुछ हद तक रोहित शर्मा को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज़ नहीं चल पाया.

चमारा सिल्वा बिना कोई रन बनाए विराट कोहली का शिकार बने. रोहित शर्मा फ़ॉर्म में दिख रहे थे लेकिन विनय कुमार ने उन्हें स्टेन के हाथों 17 के स्कोर पर कैच आउट करवा दिया.

केवल वेणुगोपाल राव ने 26 रन बनाकर थोड़ी चुनौती पेश की लेकिन विनय कुमार ने इनका भी विकेट चटक लिया. आख़िरी क्रम के खिलाड़ी कुछ ख़ास नहीं कर पाए- रवि तेजा (सात रन), अर्जुन यादव (आठ रन), संजय बांगड़ और वास (शून्य) और आरपी सिंह एक रन बना पाए.

डेकन चार्जर्स की पूरी टीम ने 20 ओवरों में 165 का स्कोर खड़ा किया. विनय कुमार को तीन जबकि स्टेन को दो विकेट मिले.

बंगलौर रॉयल चैलेंजर्स

इसके बाद आई बंगलौर रॉयल चैलेंजर्स की बारी. तीसरे ही ओवर में जाफ़र रन आउट हो गए. लेकिन इसके बाद कैलिस और मिस्बाह उल हक़ ने कमान संभाली और स्कोर को आगे बढ़ाना शुरु किया.

कैलिस 31 के स्कोर पर रन आउट हुए. तब मिस्बाह का साथ दिया कप्तान राहुल द्रविड़ ने. मिस्बाह 28 गेंदों में 34 रन बनाकर रवि तेजा की गेंद का शिकार बने. लेकिन द्रविड़ ने अपना हमला जारी रखा.

टीम 119 के स्कोर पर पहुँच गई थी तभी द्रविड़ 31 के स्कोर पर बांगड़ की गेंद पर आउट हो गए. उस समय बंगलौर की टीम मुश्किल में नज़र आ रही थी.

ऐसे में कैमरून वाइट और बालचंद्रन अखिल ने टीम की नैया पारी लगाई.

दोनों में अंत में अच्छी साझेदारी की और टीम को जीत दिलाई. कैमरून 31 और अखिल 27 रन बनाकर नाबाद रहे.

बंगलौर ने निर्धारित 20 ओवरों से छह गेंद पहले ही पाँच विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल कर लिया.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
बंगलौर की टीम 14 रनों से जीती
21 मई, 2008 | खेल की दुनिया
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>