http://www.bbcchindi.com

बंगलौर की टीम 14 रनों से जीती

चेन्नई में हुए आईपीएल मुकाबले में बंगलौर रॉयल चैंलेजर्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को 14 रनों से हरा दिया है.

बंगलौर रॉयल चैंलेजर्स ने जीत के लिए 127 रनों का मामूली लक्ष्य रखा था लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स की टीम इसे भी हासिल नहीं कर सकी. चेन्नई की टीम ने 20 ओवरों में आठ विकेट पर केवल 112 रन बनाए.

लगातार पाँच मैच हारने के बाद ये बंगलौर की पहली जीत थी.

बंगलौर ने पहले बल्लेबाज़ी की लेकिन बड़ा स्कोर खड़ा करने में असफल रही. कप्तान राहुल द्रविड़ और कुछ हद तक प्रवीण कुमार को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज़ कारगर साबित नहीं हुआ.

कैलिस और श्रीवत्स की सलामी जोड़ी ने निराश किया. कैलिस दूसरे ओवर में मनप्रीत गोनी की गेंद पर पाँच रन बनाकर आउट हो गए. गोनी ने श्रीवत्स गोस्वामी को अपना दूसरा शिकार बनाया. उन्होंने दस रन बनाए.

वीराट कोहली भी 10 रन बनाकर मुरली की गेंद पर आउट हुए. फिर कप्तान राहुल द्रविड़ ने आकर स्थिति को कुछ हद तक संभालाना शुरु किया.

लेकिन दूसरे छोर पर बल्लेबाज़ आउट होते रहे. मिस्बाह चार रन और मार्क बाउचर 17 रन ही बना सके. बाउचर का विकेट मॉर्कल ने लिया.

फिर 47 के निजी स्कोर पर द्रविड़ मॉर्कल के हाथों धोनी को कैच थमा बैठे. उस समय बंगलौर रॉयल चैंलेजर्स का स्कोर था छह विकेट पर 97 रन.

इसके बाद प्रवीण कुमार ने कुछ अच्छे शॉट लगाए लेकिन मॉर्कल ने उन्हें भी अपना शिकार बनाया. प्रवीण ने 11 गेंदों में 21 रन बनाए.

इस तरह 20 ओवरों में बंगलौर रॉयल चैंलेजर्स की टीम आठ विकेट के नुकसान पर 126 रन बना पाई. मॉर्कल ने बंगलौर के चार विकेट चटकाए.

चेन्नई सुपर किंग्स

जवाबी पारी में चेन्नई सुपर किंग्स ने बेहतरीन शुरुआत की. पार्थिव पटेल और स्टीफ़न फ़्लेमिंग ने टीम को मज़बूत आधार दिया.

चेन्नई ने 42 गेंदों में ही अपने 50 रन पूरे कर लिए थे और वो भी बिना कोई विकेट गंवाए. लेकिन इसके बाद कुंबले ने चेन्नई की टीम को झकझोर दिया.

पार्थिव पटेल 29 गेंदों में 24 रन बनाकर कुंबले की गेंद पर आउट हुए. इसके तुरंत बाद ही कप्तान धोनी को केवल चार रन के स्कोर पर विनय कुमार ने कुबंले के हाथों कैच आउट करवाया.

अब तक 45 रन बना चुके फ़्लेमिंग भी कुंबले का ही शिकार बने. कुंबले ने बद्रीनाथ (एक रन) के रूप में अपना तीसरा विकेट लिया. चेन्नई का पाँचवा विकेट मॉर्कल के रूप में गिरा. आख़िरी के बल्लेबाज़ जल्दी-जल्दी आउट होते गए. केवल सुरेश रैना अपने दम पर टीम को हार से बचाने की कोशिश में जुटे हुए थे.

अंत में तीन गेदों में चेन्नई को 15 रन बनाने थे लेकिन टीम 112 रन ही बना पाई. इस तरह बंगलौर की टीम मैच 12 रनों से हार गई. कुंबले ने तीन विकेट लिए जबकि स्टेन को दो विकेट मिले.