http://www.bbcchindi.com

रविवार, 01 जून, 2008 को 20:34 GMT तक के समाचार

राजिंदर अमरनाथ
पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और कमेंटेटर

'आईपीएल का फ़ाइनल कांटेदार रहा'

आईपीएल के फ़ाइनल में भले ही राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स की हरा दिया हो लेकिन मैच कांटेदार था. हमें ऐसे ही फ़ाइनल की उम्मीद थी.

मैच के दौरान दोनों कप्तानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें नज़र आ रहीं थीं.

खेलनेवालों की तो छोड़िए देखनेवालों के दिलों की धड़कन बढ़ी हुईं थीं.

मेरा मानना है कि इस मैच ने कुछ लोगों के नाखून कम कर दिए होंगे.

मुझे लगता है कि चेन्नई सुपर किंग अच्छा खेली लेकिन उन्होंने 20 रन कम बनाए. पिच अच्छी थी और पहले बल्लेबाज़ी के लिए विकेट अच्छा था.

सुहेल तनवीर ने चार ओवरों में 40 रन दिए, उससे अंदाज़ लगाया जा सकता है कि गेंदबाज़ों की नहीं चल रही थी.

मेरा मानना है कि टीम की कामयाबी में कप्तान का हाथ होता है लेकिन राजस्थान रॉयल्स की ओर से पूरी टीम ने शानदार प्रदर्शन किया और जीत का श्रेय पूरी टीम को जाता है.

युवाओं को फ़ायदा

ये टूर्नामेंट खासा कामयाब रहा और इससे युवा भारतीय खिलाड़ियों को फ़ायदा होगा.

शुरुआत में तो प्रीति जिंटा और शाहरुख़ ख़ान को टिकट बेचने के लिए आगे आना पड़ा लेकिन बाद में 50-60 हज़ार दर्शक आने लगे और टिकट के लिए लोगों की लाइनें लगने लगीं.

इस टूर्नामेंट ने युवाओं को एक मौक़ा दिया है और उन्हें दोनों हाथों से इसे पकड़ना चाहिए.

इस टूर्नामेंट में अनेक युवा खिलाड़ी सामने आए हैं. यूसुफ़ ख़ान बेहतरीन आलराउंडर के रूप में उभरकर सामने आए हैं. वो हरभजन के लिए चुनौती बन सकते हैं.

रोहित शर्मा आनेवाले दिनों में भारतीय टीम में सौरभ गांगुली, सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ में से किसी का स्थान ले सकते हैं.

(ऐश्वर्या कपूर से बातचीत पर आधारित)