http://www.bbcchindi.com

रविवार, 01 जून, 2008 को 20:03 GMT तक के समाचार

कैसे खेला गया अंतिम रोमांचक ओवर..?

मुंबई में आईपीएल प्रतियोगिता के फ़ाइनल में राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को तीन विकेट से हरा दिया है.

मुकाबला काँटे का था और नतीजे के लिए आख़िरी गेंद का इंतज़ार करना पड़ा. मैच के अंतिम ओवर पर ही सारा मैच टिका हुआ था.

आख़िरी ओवर में राजस्थान को जीत हासिल करने के लिए आठ रन चाहिए थे. मैदान पर थे शेन वॉर्न और सोहल तनवीर. चेन्नई की ओर से धोनी ने गेंदबाज़ी सौंपी बालाजी को.

आइए देखते हैं कि इस निर्णायक अंतिम ओवर में क्या-क्या हुआ

19.1:राजस्थान को छह गेंदों में आठ रन चाहिए थे.बालाजी ने तनवीर को गेंद डाली, तनवीर ने एक रन लिया.

19.2: राजस्थान को अब पाँच गेंदों में सात रन चाहिए थे. बालाजी ने वॉर्न को गेंद डाली लेकिन राजस्थान को कोई रन नहीं मिला.

19.3: बालाजी ने वॉर्न को गेंद डाली. वॉर्न ने एक रन लिया.

19.4: राजस्थान को तीन गेंदों में छह रन बनाने थे. बालाजी ने तनवीर को गेंद डाली. बालाजी ने दो वाइड दे दिए. फिर वॉर्न ने एक रन भी ले लिया.

19.5: दो गेंदों में राजस्थान को तीन रन चाहिए थे. बालाजी ने तनवीर को गेंद डाली, तनवीर ने दो रन लिए. राजस्थान और चेन्नई का स्कोर 163 हुआ.

19.6: इस निर्णायक गेंद में राजस्थान को एक रन चाहिए था. बालाजी ने तनवीर को गेंद डाली, तनवीर ने एक रन लिया..इसके साथ ही राजस्थान की टीम जीत गई.

अंतिम ओवर (1,0,1, 2 वाइड 1,2,1 )