बिहार विधानसभा चुनाव 2020

  1. प्रदीप कुमार

    बीबीसी संवाददाता

    सुशील मोदी

    मोदी सरकार की कैबिनेट का ये फेरबदल बिहार की राजनीति में क्या कुछ बदलाव लेकर आने वाला है?

    और पढ़ें
    next
  2. Video content

    Video caption: चिराग पासवान ने एलजेपी में घमासान और पीएम मोदी के बारे में क्या कहा?

    लोक जनशक्ति पार्टी के नेता चिराग़ पासवान का कहना है कि मुश्किल वक्त में प्रधानमंत्री और भाजपा की ओर से साथ नहीं मिलने से उन्हें निराशा हुई है.

  3. अनंत प्रकाश

    बीबीसी संवाददाता

    चिराग पासवान और पशुपति पारस

    क्या होता है जब किसी पार्टी में दो गुट पैदा हो जाते हैं. चिराग पासवान, पशुपति कुमार पारस दोनों लोक जनशक्ति पार्टी पर अपना दावा ठोक रहे हैं, जानिए नियम क्या कहते हैं?

    और पढ़ें
    next
  4. सीटू तिवारी

    बीबीसी हिंदी के लिए, पटना से

    नीतीश कुमार

    पश्चिम बंगाल में बीजेपी के चुनाव हारने के बाद से ही पड़ोसी राज्य बिहार की राजनीति में उथल पुथल मची हुई है.

    और पढ़ें
    next
  5. चिराग पासवान के ख़िलाफ़ चाचा पशुपति कुमार पारस ने खोला मोर्चा

    लोजपा सांसद पशुपति कुमार पारस
    Image caption: लोजपा सांसद पशुपति कुमार पारस

    लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के पांच सांसदों के लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को लिखे पत्र के बाद लोजपा सांसद और पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान के चाचा पशुपति कुमार पारस ने एएनआई से बातचीत में कहा है कि वो पार्टी को बचाना चाहते हैं.

    लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को लिखे गए पत्र में सांसदों ने मांग की है कि पशुपति कुमार पारस को संसदीय दल का नेता माना जाए. इस समय लोजपा के अध्यक्ष चिराग पासवान ही संसदीय दल के नेता हैं.

    बिहार के हाजीपुर से लोजपा सांसद पशुपति कुमार पारस ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, “हमारी पार्टी में छहसांसद हैं.पांचसांसदों की इच्छा थी की पार्टी का अस्तित्व खत्म हो रहा है इसलिए पार्टी को बचाया जाए. मैं पार्टी तोड़ा नहीं हूं पार्टी को बचाया हूं. चिराग पासवान से कोई शिकायत नहीं है. कोई आपत्ति नहीं है वे पार्टी में रहें.”

    एनडीए के साथ गठबंधन पर उन्होंने कहा, “मैं अकेला महसूस कर रहा हूं. पार्टी की बागडोर जिनके हाथ में गई. पार्टी के 99% कार्यकर्ता, सांसद, विधायक और समर्थक सभी की इच्छा थी कि हम 2014 में एनडीएगठबंधन का हिस्सा बनें और इस बार के विधानसभा चुनाव में भी हिस्सा बने रहें.”

    View more on twitter

    “लोक जनशक्ति पार्टी बिखर रही थी कुछ असामाजिक तत्वों ने हमारी पार्टी में सेंध डाला और 99% कार्यकर्ताओं के भावना की अनदेखी करके गठबंधन को तोड़ दिया.”

    इसके साथ ही पशुपति कुमार पारस ने कहा है कि उनका संगठन बिहार में मज़बूत है और वो एनडीए में थे और गठबंधन के साथ रहेंगे.

    चिराग पासवान

    ग़ौरतलब है कि बीते साल अक्तूब-नवंबर में हुए बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान चिराग पासवान ने एनडीए से नाता तोड़ लिया था और पार्टी ने अकेले चुनाव लड़ा था.

    इस दौरान चिराग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ख़ूब आलोचना कर रहे थे लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लगातार तारीफ़ कर रहे थे.

    वहीं, समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया है कि चिराग पासवान अपने चाचा पशुपति कुमार पारस से मिलने दिल्ली में उनके घर पहुंचे हैं.

    View more on twitter
  6. सरोज सिंह

    बीबीसी संवाददाता

    छात्रा

    बिहार में इंजीनियरिंग, मेडिकल में लड़कियों के लिए एक-तिहाई सीटें आरक्षित करने का नीतीश सरकार का प्रस्ताव है. लेकिन क्या इससे उच्च तकनीकी शिक्षण संस्थानों की तस्वीर बदलेगी?

    और पढ़ें
    next
  7. Video content

    Video caption: बिहार विधानसभा के अंदर हुई हिंसक झड़प

    बिहार विधानसभा के अंदर विधायकों के साथ हुई मारपीट से पहले दोपहर में पटना की सड़कों पर भी RJD कार्यकर्ताओं और नेताओं की पुलिस के साथ हिंसक झड़प हुई.

  8. विष्णु नारायण

    बिहार से, बीबीसी हिंदी के लिए

    नीतीश कुमार उपेंद्र कुशवाहा

    विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार सियासी रूप से कमज़ोर हुए थे और बीजेपी बड़े भाई की भूमिका में आ गई थी. क्या नीतीश कुमार उपेंद्र कुशवाहा को अपनी पार्टी में लाकर संतुलन स्थापित करना चाहते हैं?

    और पढ़ें
    next
  9. तेजस्वी यादव ने उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के राजद में विलय की घोषणा की, बोले- 'कुशवाहा पार्टी में अकेले बचे'

    नीरज सहाय

    पटना से, बीबीसी हिन्दी के लिए

    राजद

    बिहार विधानसभा चुनाव के चार महीने बाद, पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी ‘राष्ट्रीय लोक समता पार्टी’ में शुक्रवार को फूट हुई है.

    उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के जनता दल यूनाइटेड में विलय की चर्चा के बीच, क़रीब तीन दर्जन पार्टी पदाधिकारियों ने मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल का दामन थाम लिया है.

    राजद कार्यालय में नेता प्रतिपक्ष और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव की उपस्थिति में इसकी विधिवत घोषणा हुई.

    इस अवसर पर तेजस्वी यादव ने दावा किया कि ‘राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का विलय राष्ट्रीय जनता दल में हो गया है. इससे पार्टी को मज़बूती मिलेगी.’

    तेजस्वी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा, “रालोसपा के संस्थापक सदस्यों, प्रदेश अध्यक्ष, प्रधान महासचिव, प्रदेश प्रकोष्ठों के अध्यक्ष, राष्ट्रीय, प्रांतीय और बिहार इकाई के प्रमुख नेताओं द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा जी को पार्टी से निष्कासित कर, रालोसपा का राजद में विलय करने पर सभी का हार्दिक स्वागत और धन्यवाद.”

    View more on twitter

    उधर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने बीबीसी को बताया कि शनिवार को पार्टी कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गयी है. बैठक के बाद इस पर बात होगी.

    बिहार विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने एमआईएम, बसपा समेत छह पार्टियों के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ा था.

    इनमें से एमआईएम के पाँच और बहुजन समाज पार्टी के एक प्रत्याशी जीते थे. बाकी पार्टियाँ अपना खाता भी नहीं खोल सकी थीं.

  10. नीरज सहाय

    बीबीसी हिंदी के लिए

    शाहनवाज़ हुसैन

    सैयद शाहनवाज़ हुसैन बिहार विधान परिषद सदस्य के रूप में निर्विरोध निर्वाचित होने के बाद नौ फरवरी को कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं.

    और पढ़ें
    next