कर्नाटक

  1. Video content

    Video caption: बेंगलुरु में क्यों भड़की हिंसा की आग?

    बेंगलुरु में एक सोशल मीडिया पोस्ट के वजह से हुए विवाद और उससे उपजी हिंसा में मरने वालों की संख्या अब तीन हो गई है.

  2. इमरान कु़रैशी

    बेंगलुरु से बीबीसी हिंदी के लिए

    हिंसा के बाद कुछ ऐसा था मंज़र

    बेंगलुरु में एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर हुए विवाद के बाद हालात बेकाबू हो गए. हिंसा के बाद पुलिस फ़ायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई और 110 को गिरफ़्तार करना पड़ा.

    और पढ़ें
    next
  3. Video content

    Video caption: कर्नाटक में एक शख्स ने पत्नी की याद में बनवाई मोम की मूर्ति

    श्रीनिवास अपने नए घर में अपनी पत्नी माधवी के साथ आना चाहते थे, लेकिन जुलाई 2017 में एक कार दुर्घटना में माधवी की मृत्यु हो गई.

  4. सरोज सिंह

    बीबीसी संवाददाता, दिल्ली

    स्टूडेंट्स

    देश भर में आईआईटी के लिए 11 लाख छात्रों ने फ़ॉर्म भरे हैं. जबकि नीट की परीक्षा के लिए 16 लाख छात्रों ने आवेदन किया है.

    और पढ़ें
    next
  5. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और विपक्षी नेता सिद्धारमैया संक्रमित

    कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और विधान सभा में विपक्ष के नेता सिद्धारमैया कोरोना संक्रमित हो गए हैं. उन्होंने मंगलवार सुबह अपने ट्विटर अकाउंट पर इसकी सूचना दी.

    सिद्धारमैया ने लिखा है कि वो कोविड-19 के टेस्ट में पॉज़िटिव पाए गए और डॉक्टरों की सलाह पर एहतियातन अस्पताल में भर्ती हो गए हैं.

    उन्होंने साथ ही अपने संपर्क में आने वाले लोगों से संक्रमण के लक्षणों की जाँच करने और स्वयं को क्वारंटीन करने का अनुरोध किया है.

    इससे पहले कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने भी रविवार को अपने कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी. उन्हें संक्रमण का कोई लक्षण नहीं है मगर वो एहतियातन अस्पताल में भर्ती हो गए हैं.

    View more on twitter
  6. येदियुरप्पा की बेटी भी कोरोना पॉज़िटिव, अस्पताल में भर्ती

    View more on twitter

    कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के बाद अब उनकी बेटी भी कोरोना पॉज़िटिव पाई गई हैं.

    समाचार एजेंसी एएनआई ने बेंगलुरु के मनिपाल हॉस्पिटल के हवाले से ख़बर दी है कि उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

    77 वर्षीय येदियुरप्पा भी मनिपाल हॉस्पिटल में ही भर्ती हुए हैं.

    अस्पताल का कहना है कि उनकी हालत स्थिर है और उन पर क़रीब से नज़र रखी जा रही है.

  7. कर्नाटक: कोरोना के बहाने स्कूली किताबों से इतिहास हटा रही है सरकार?

    स्कूलों का पाठ्यक्रम

    ऐसा लगता है कि सैकड़ों सालों पहले जो काम शासकों ने किया वही काम फिर से करने के लिए कोविड-19 महामारी ने सरकार को एक मौक़ा दे दिया है. कम से कम कर्नाटक सरकार तो यही मान रही है.

    प्रदेश के प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग ने उस युग के शासकों के हथियार का इस्तेमाल करते हुए पाठ्यपुस्तकों से न केवल टीपू सुल्तान बल्कि शिवाजी महाराज, विजयनगर साम्राज्य, बहमनी, संविधान के कुछ हिस्से और इस्लाम और ईसाई धर्म से जुड़े कुछ हिस्से निकाल दिए हैं.

    इसके पीछे वजह ये है कि कोरोना महामारी के कारण कक्षा छह से लेकर नौ तक पढ़ाई के लिए जो 220 दिन का समय था वो अब कम होकर केवल 120 दिनों का रह गया है, और इस कारण पाठ्यक्रम को भी कम करना ज़रूरी हो गया है.

    इन सभी विषयों को अब प्रोजेक्ट वर्क तक सीमित कर दिया गया है जिस पर छात्र घर से काम कर सकते हैं और चार्ट या प्रेज़ेन्टेशन बना सकते हैं.

    पाठ्यक्रम से क्या कुछ हटाया गया है?

    उदाहरण के तौर पर कक्षा नौ के सामाजिक शास्त्र विषय में राजपूत राजवंशों, राजपूतों के योगदान, तुर्कों के आगमन, राजनीतिक निहितार्थ और दिल्ली के सुल्तानों के विषय पढ़ाने के लिए आम तौर पर छह कक्षाएं होती थीं जिसे कम कर अब दो कर दिया गया है.

    कर्नाटक: कोरोना के बहाने स्कूली किताबों से इतिहास हटा रही है सरकार?

    स्कूलों का पाठ्यक्रम

    कर्नाटक में कोरोना की वजह से पढ़ाई के दिन कम हुए और शिक्षा विभाग ने किताबों से टीपू सुल्तान, शिवाजी, समेत इस्लाम और ईसाई धर्म से जुड़े कुछ हिस्सों को हटा दिया.

    और पढ़ें
    next
  8. इमरान क़ुरैशी

    बेंगलुरु से, बीबीसी हिंदी के लिए

    स्कूलों का पाठ्यक्रम

    कर्नाटक में कोरोना की वजह से पढ़ाई के दिन कम हुए और शिक्षा विभाग ने किताबों से टीपू सुल्तान, शिवाजी, समेत इस्लाम और ईसाई धर्म से जुड़े कुछ हिस्सों को हटा दिया.

    और पढ़ें
    next
  9. सोमवार से चेन्नई में लॉकडाउन में राहत

    View more on twitter

    तमिलनाडु के चेन्नई सहित जिन ज़िलों में पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया था, वहां सोमवार से इन पाबंदियों में राहत दी जा रही है.

    शनिवार को मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने इस बात की घोषणा की कि छह जुलाई से चेन्नई के लॉकडाउन के राहत दी जा रही है.

    उन्होंने ये भी बताया कि शहर में किराने और सब्जियों की दुकानें 12 घंटों के लिए खुली रहेगी.

    इससे पहले राज्य सरकार ने 19 जून को चेन्नई के अलावा तमिलनाडु के तीन अन्य ज़िलों में 12 घंटे का सख्त लॉकडाउन लागू कर दिया था.

    View more on twitter

    दूसरी तरफ़ कर्नाटक के कलबुर्गी और हुबली ज़िले में रविवार को पूरी तरह लॉकडाउन रहा.

    कर्नाटक के इन इलाकों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनज़र ये फ़ैसला लिया गया था.

    मंगलवार को कर्नाटक सरकार ने दो अगस्त तक के लिए प्रत्येक रविवार के लिए पूर्ण लॉकडाउन लागू करने का फ़ैसला किया था.

  10. राजस्थान, मध्य प्रदेश और कर्नाटक में तेज़ी से बढ़ा संक्रमण

    राजस्थान, कर्नाटक और मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 संक्रमण के मामलों में तेज़ी से बढ़त दर्ज की गई है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़:

    • राजस्थान में 480 नए मामलों के साथ कुल संक्रमण मामलों की संख्या 19,532 हो गई है, जिनमें 3,445 सक्रिय मामले हैं. इसके साथ ही सात अन्य मौतों के साथ कुल मौतों का आंकड़ा 447 हो गया है.
    • कर्नाटक में कोरोना संक्रमण के 1,839 नए मामले सामने आए. यह राज्य में एक दिन में अब तक का सबसे बड़ा उछाल है. इसी के साथ कर्नाटक में कोविड-19 के कुल 21,549 मामले हो गए हैं जिनमें से 11,966 सक्रिय हैं. वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण से यहां कुल 42 लोगों की मौत हुई और मौतों का आंकड़ा 335 तक पहुंच गया.
    • मध्य प्रदेश में भी कुछ ऐसी ही स्थिति रही. यहां पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 307 नए मामले देखे गए और कुल मामलों की संख्या 14,604 हो गई जिनमें 2,772 सक्रिय मामले हैं. वहीं, पांच और लोगों की मौत के साथ मौतों का आंकड़ा 598 हो गया.
    कोरोना संक्रमण
    Image caption: सांकेतिक तस्वीर
    View more on twitter
    View more on twitter
    View more on twitter