नागरिकता संशोधन क़ानून

  1. किसी मुसलमान को CAA से नुक़सान नहीं होगा- आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत

    मोहन भागवत
    Image caption: मोहन भागवत

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि भारत के मुसलमानों को नागरिकता संशोधन क़ानून सीएए से कोई नुक़सान नहीं पहुँचेगा.

    असम के दो दिन के दौरे पर गए भागवत ने बुधवार को गुवाहाटी में कहा,"CAA किसी भारत के नागरिक के विरुद्ध बनाया हुआ कानून नहीं है. भारत के नागरिक मुसलमान को CAA से कुछ नुकसान नहीं पहुंचेगा."

    भागवत ने गुवाहाटी में एक पुस्तक विमोचन समारोह में अपने भाषण में कहा कि कि नागरिकता क़ानून से पड़ोसी देशों में दमन का शिकार अल्पसंख्यकों को सुरक्षा मिल सकेगी.

    उन्होंने पाकिस्तान का ज़िक्र करते हुए कहा,"1930 से योजनाबद्ध तरीके से मुसलमानों की संख्या बढ़ाने के प्रयास हुए, ऐसा विचार था कि जनसंख्या बढ़ाकर अपना वर्चस्व स्थापित करेंगे और फिर इस देश को पाकिस्तान बनाएंगे."

    उन्होंने कहा कि भारत ने अल्पसंख्यकों का हमेशा ख़याल रखा है.

    उन्होंने कहा," विभाजन के बाद एक आश्वासन दिया गया कि हम अपने देश के अल्पसंख्यकों की चिंता करेंगे. हम आजतक उसका पालन कर रहे हैं, पाकिस्तान ने नहीं किया."

    मोहन भागवत ने साथ ही कहा कि सीएए और नागरिकता रजिस्टर एनआरसी का हिंदू-मुस्लिम से कोई लेना-देना नहीं है और इसे लेकर सांप्रदायिक कहानी कुछ लोगों ने राजनीतिक लाभ उठाने के लिए रची है.

    नागरिकता रजिस्टर की चर्चा करते हुए भागवत ने कहा कि हर देश को ये जानने का अधिकार है कि उसके अपने नागरिक कौन हैं.

    उन्होंने कहा,"ये मामला राजनीतिक पाले में है क्योंकि इसमें सरकार संबद्ध है. कुछ लोग इससे राजनीतिक फ़ायदा उठाने के लिए इन दोनों मुद्दों को सांप्रदायिक रंग देना चाहते हैं."

    आरएसएस प्रमुख असम में इस वर्ष बीजेपी के सत्ता में दोबारा लौटने के बाद पहली बार राज्य की यात्रा पर पहुँचे हैं.

    View more on twitter
  2. जामिया

    बीते साल जामिया मिल्लिया इस्लामिया के क़रीब CAA के ख़िलाफ़ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर एक युवक ने गोलीबारी की थी जिसने अब महापंचायत में एक अपील की है. पढ़िए आज के अख़बारों की प्रमुख सुर्ख़ियां.

    और पढ़ें
    next
  3. नताशा

    नताशा नरवाल, देवंगना कलिता और आसिफ़ इक़बाल तन्हा को ज़मानत देते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकार पर कई सवाल उठाए थे.

    और पढ़ें
    next
  4. दिलीप कुमार शर्मा

    गुवाहाटी से, बीबीसी हिंदी के लिए

    हिमंत बिस्वा सरमा

    मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने राज्य के 'आप्रवासी मुसलमानों' से जनसंख्या नियंत्रण के लिए 'उचित परिवार नियोजन नीति' अपनाने की अपील की है.

    और पढ़ें
    next
  5. दिलीप कुमार शर्मा

    गुवाहाटी से, बीबीसी हिंदी के लिए

    हैदर अली

    असम के बारपेटा की एक फ़ॉरेनर्स ट्रिब्यूनल (एफ़टी) ने 30 जनवरी, 2019 को हैदर अली को विदेशी नागरिक घोषित कर दिया था. लेकिन, क़रीब दो साल अदालतों के चक्कर काटने के बाद गुवाहाटी हाईकोर्ट ने अपने एक फ़ैसले में उन्हें भारतीय नागरिक बताया है.

    और पढ़ें
    next
  6. नीरज प्रियदर्शी

    पटना से, बीबीसी हिंदी के लिए

    दानापुर कैंट मध्य विद्यालय

    पटना के दानापुर में चल रहे एक बाल सुधार गृह से जुड़े लोगों पर इसलिए राजद्रोह का मुक़दमा दर्ज किया गया है क्योंकि उन्होंने सीएए-एनआरसी से जुड़ी परिचर्चा आयोजित की थी.

    और पढ़ें
    next
  7. Video content

    Video caption: असम चुनावः सर्बानंद सोनोवाल ने सीएए-एनआरसी पर क्या कहा?

    असम के विधानसभा चुनाव इस बार काफी दिलचस्प हो गए हैं. असम में पुराने गठबंधन टूटकर नए गठबंधन बने हैं. ऐसे में बीजेपी अपनी सत्ता में वापसी की राह कितनी आसान या मुश्किल देखती है.

  8. सचिन गोगोई

    बीबीसी संवाददाता (शिवसागर, असम से)

    सीएए विरोधी प्रदर्शन (फ़ाइल फ़ोटो)

    ये पार्टियाँ दावा कर रही हैं कि उनके बग़ैर असम में सरकार नहीं बनेगी और उनका मक़सद बीजेपी की सांप्रदायिक राजनीति को रोकना है.

    और पढ़ें
    next
  9. इमरान क़ुरैशी

    बीबीसी हिंदी के लिए

    तमिलनाडु के उप मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम (बाएं) और मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी

    तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में भाजपा की सहयोगी पार्टी अन्नाद्रमुक ने विवादास्पद नागरिकता संशोधन क़ानून पर अपना स्टैंड बदल लिया है. दो साल पहले अन्नाद्रमुक ने राज्यसभा में नागरिकता संशोधन क़ानून का समर्थन किया था.

    और पढ़ें
    next
  10. फ़ैसल मोहम्मद अली

    बीबीसी संवाददाता, दिल्ली

    भूरे ख़ान

    पिछले साल दिल्ली के दंगों में अपना घर और दुकान खो चुके भूरे ख़ान के ज़ख़्म अब भी हरे हैं.

    और पढ़ें
    next