दक्षिण कोरिया

  1. लौरा बिकर

    बीबीसी न्यूज़, सियोल

    डिलीवरी

    दक्षिण कोरिया में जान गंवाने वाले 14 डिलीवरी ड्राइवरों के परिजनों का कहना है कि उनकी जान अत्यधिक काम के कारण गई.

    और पढ़ें
    next
  2. Video content

    Video caption: वो काम, जिसे परंपरागत तौर पर पुरुषों का काम माना जाता है.

    ऑल वुमन रिपेयर सर्विस से महिलाओं की दिक़्क़तों का प्रभावी हल निकला है.

  3. Video content

    Video caption: उत्तर कोरिया की नई बैलिस्टिक मिसाइल से अमरीका की चिंता बढ़ी?

    उत्तर कोरिया की नई बैलिस्टिक मिसाइल के विशाल आकार ने देश के हथियारों के जाने-माने विशेषज्ञों को भी चकित कर दिया है.

  4. Video content

    Video caption: उत्तर कोरिया में मुश्किलों के बावजूद जश्न की तैयारी

    तमाम कड़े आर्थिक प्रतिबंध झेल रहे उत्तर कोरिया में तैयारी हो रही है.

  5. कोरोना ग्लोबल राउंड अप: दुनिया में कहां क्या हाल है?

    अगर आप हमसे अभी-अभी जुड़े हैं तो एक नज़र डालते हैं दुनिया भर में कोरोना से जुड़े अपडेट पर:

    • फ़्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश में कोविड-19 के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. फ़्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि है कि अगर हालात नहीं सुधरे तो आने वाले दिनों में फिर से लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है. शुक्रवार को फ़्रांस में संक्रमण के 7,379 मामले सामने आए. मई के मध्य के बाद से ये अब तक की सबसे बड़ी बढ़त है.
    • दक्षिण कोरिया में हुए एक शोध के अनुसार कोरोना वायरस बच्चों की नाक में तीन हफ़्ते तक रह सकता है. ऐसी स्थिति में बच्चे अंजाने में संक्रमण फैला सकते हैं. वहीं, संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए तारीफ़ें बटोरने वाले दक्षिण कोरिया में अब रोज़ाना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. शनिवार को यहां कोविड-19 के 300 से ज़्यादा नए मामले दर्ज किए गए.
    • ब्रिटेन सरकार की कोविड-19 से सम्बन्धित एक रिपोर्ट लीक हो गई है. रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि स्थिति बिगड़ने पर सर्दियों तक 85 हज़ार लोगों की मौत हो सकती है.
    कोरोना संक्रमण
  6. दक्षिण कोरिया: कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण स्कूल बंद करने के आदेश

    कोरोना, दक्षिण कोरिया

    दक्षिण कोरिया की सरकार ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी सोल में सभी स्कूलों और किंडरगार्टन को बंद करने का आदेश दिया है.

    क़रीब 200 स्टाफ़ और छात्र ग्रेटर सोल क्षेत्र में पिछले दो हफ्तों में संक्रमित हुए हैं.

    शिक्षा मंत्रालय का कहना है कि 11 सितंबर तक रिमोट लर्निंग प्रोग्राम ही चलते रहेंगे.

    स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि देश राष्ट्रव्यापी संक्रमण के दौर में पहुँचने की कगार पर खड़ा है.

    ग्रेटर सोल एरिया में तक़रीबन ढाई करोड़ छात्र रहते हैं.

    अब वो ऑनलाइन ही पढ़ाई करेंगे. सिर्फ़ हाई स्कूल के अंतिम वर्ष के छात्र जिन्हें दिसंबर में यूनिवर्सिटी की प्रवेश परीक्षा देनी है, वो ऑनलाइन क्लास नहीं करेंगे.

    कोरिया टाइम्स के मुताबिक़ 60 से कम छात्रों वाले और स्पेशल एजुकेशन वाले स्कूलों को मंत्रालय के आदेश का पालन करना है या नहीं, यह उन पर निर्भर करता है.

    दक्षिण कोरिया के ज़्यादातर स्कूल 20 मई और 1 जून के बीच संक्रमण के कम मामले होने के बाद खोल दिए गए थे.

    जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आँकड़ों के मुताबिक़ दक्षिण कोरिया में अब तक 310 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है और कुल 17,945 लोग संक्रमित हो चुके हैं.

    कोरोना के संकट से निपटने के मामले में दक्षिण कोरिया को दुनिया में एक कामयाब देश के तौर पर देखा जा रहा है.

    हालांकि हाल के हफ़्तों में यहाँ ख़ासतौर पर ग्रेटर सोल क्षेत्र में संक्रमण के मामलों में इज़ाफ़ा देखा गया है.

    मंगलवार को कोरोना के 280 नए मामले सामने आए हैं.

    यह 12वां दिन है जब तीन अंकों में संक्रमण के मामलों में इज़ाफ़ा देखा गया है.

    नहीं तो यहाँ 30 से कम संक्रमण के मामले हर दिन सामने आते रहे हैं.

    संक्रमण के कई सारे मामले दक्षिणपंथी प्रोटेस्टेंट चर्चों से जुड़े हुए हैं जिनके सदस्यों ने एक हफ़्ते पहले सोल में एक बड़ी रैली निकाली थी.

    सोल में सरकारी अधिकारियों ने पहली बार घर के अंदर और बाहर मास्क पहनने का आदेश दिया है.

    चर्च, नाइट क्लब और बार बंद कर दिए गए हैं. सरकार ने चेतावनी दी है कि अगर संक्रमण के मामले बढ़ते रहे तो सोशल डिस्टेंसिंग के सख़्त नियम लागू किए जा सकते हैं.

    इसका मतलब यह होगा कि कई सारे व्यवसाय दक्षिण कोरिया में पहली बार महामारी की शुरुआत के बाद बंद करने पड़ जाएंगे.

  7. दक्षिण कोरिया में राष्ट्रव्यापी वायरस संक्रमण का ख़तरा

    कोरोना, दक्षिण कोरिया

    दक्षिण कोरिया के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना वायरस के पूरे देश में दोबारा फैलने की आशंका बढ़ गई है.

    ताज्जुब की बात ये है कि एक समय में दक्षिण कोरिया को कोरोना वायरस से लड़ने में एक मॉडल देश की तरह पेश किया जा रहा था.

    सोल स्थित बीबीसी संवाददाता लॉरा बिकर के अनुसार एक चर्च से शुरू हुआ संक्रमण अब पहली बार दक्षिण कोरिया के सभी 17 प्रांतों में फैल चुका है.

    हर दिन 100 से ज़्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं.

    संक्रमण के नए मामलों में ज़्यादा तर राजधानी सोल के आस-पास के हैं. सोल की आबादी क़रीब एक करोड़ है.

    सबसे बड़ी चिंता ये है कि उस चर्च में पूजा के लिए जाने वाले जो लोग संक्रमित हुए हैं उनका विश्वास है कि कोरोना वायरस को एक साज़िश के तहत वहां भेजा गया था ताकि चर्च को बंद किया जा सके.

    उनमें से कोई तो संपर्क करने से भी इनकार कर रहे हैं, कोरोना जाँच की बात दो दूर की बात है.

    इसके अलावा एक और ख़तरा है. उस चर्च में जाकर संक्रमित होने वाले अधिकतर युवा हैं जिनकी उम्र 20 और 30 के बीच है.

    लेकिन अभी जो वायरस फैल रहा है वो बुज़ुर्गों को ज़्यादा शिकार बना रहा है.

  8. किम यो-जॉन्ग

    ऐसा अनुमान है कि उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-उन ने बहन किम यो-जोंग को अधिक ताक़तें दे दी हैं.

    और पढ़ें
    next
  9. दक्षिण कोरिया: चर्च की रैली में हिस्सा लेने वाले 3,400 लोग क्वारंटीन में

    दक्षिण कोरिया में चर्च से जुड़े संक्रमण मामलों की संख्या अब बढ़कर 319 हो गई है. यह जानकारी सेंटर फ़ॉर डिजीज़ कंट्रोल के मुख्यालय से मिली है.

    यहां एक चर्च प्रमुख जुन-क्वांग-हूं कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. अब सरकार ने उन सभी लोगों को क्वारंटीन में जाने को कहा है जिन्होंने चर्च द्वारा आयोजित सरकार-विरोधी रैली में हिस्सा लिया था.

    इस पादरी का नाम रेव जुव क्वांग-हूं है और इन पर लोगों को राजधानी सोल में आयोजित एक सरकार-विरोधी रैली में शामिल होने के लिए लोगों को आइसोलेशन के नियम तोड़ने का आरोप है.

    राष्ट्रपति मू जे-इन ने रैली में हिस्सा लेने वाले चर्च के सदस्यों की आलोचना की है. उन्होंने का कि ‘इन लोगों ने दूसरों की जान ख़तरे में डालने का अक्षम्य अपराध' किया है.”

    उप स्वास्थ्य मंत्री किम गैंग-लिप ने एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में बताया कि रैली में शामिल 3,400 के करीब लोगों की पहचान करके उन्हें क्वारंटीन में रखा गया है.

    कोरोना संक्रमण पर प्रभावी ढंग से लगाम लगाने के लिए दक्षिण कोरिया की तारीफ़ होती रही है.

    दक्षिण कोरिया
  10. कोरोना

    विस्फोट के बाद बेरूत में 6,000 से ज़्यादा लोग घायल हुए थे. इस धमाके में बेरूत के अस्पतालों को भी भारी क्षति पहुंची है.

    Follow
    next