पश्चिम बंगाल

  1. सरोज सिंह

    बीबीसी संवाददाता, दिल्ली

    स्टूडेंट्स

    देश भर में आईआईटी के लिए 11 लाख छात्रों ने फ़ॉर्म भरे हैं. जबकि नीट की परीक्षा के लिए 16 लाख छात्रों ने आवेदन किया है.

    और पढ़ें
    next
  2. लॉकडाउन से बंगाल में जनजीवन प्रभावित

    View more on twitter

    कोरोना महामारी पर रोकथाम के लिए पश्चिम बंगाल में लागू लॉकडाउन के कारण बुधवार को पूरे राज्य में जन जीवन प्रभावित रहा.

    राज्य में 23 जुलाई से हर हफ़्ते दो दिन के लिए लॉकडाउन का प्रावधान है. एक पखवाड़े में बुधवार को लॉकडाउन का चौथा दिन है.

    एक पुलिस अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि लॉकडाउन को कड़ाई से लागू करने और अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह को देखते हुए राज्य में सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतज़ाम किया गया है ताकि किसी अवांछित घटना को होने से टाला जा सके.

  3. प्रभाकर मणि तिवारी

    कोलकाता से, बीबीसी हिंदी के लिए

    पश्चिम बंगाल बीजेपी

    पश्चिम बंगाल में बीजेपी के नेताओं में असंतोष की ख़बरें आ रही हैं. लेकिन बीजेपी इसे प्रशांत किशोर की साज़िश बता रही है.

    और पढ़ें
    next
  4. पश्चिम बंगाल में कोरोना: ना मरीज़ को इलाज, ना मुर्दे को श्मशान

    पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति

    एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल का चक्कर काटने के दौरान बीते सप्ताह 18 साल के एक युवक की मौत. तमाम अस्पतालों ने बेड ख़ाली नहीं होने की बात कह कर उसे लौटाया. अब मामला हाईकोर्ट में.

    उत्तर 24-परगना ज़िले के बनगाँव में 62 साल के कोरोना संक्रमित एक व्यक्ति को स्थानीय सरकारी अस्पताल से कोलकाता के बड़े अस्पताल में भेजने के दौरान किसी ने एंबुलेंस पर चढ़ने में मदद नहीं की.

    पीपीई किट पहन कर ड्राइवर दूर से खड़ा तमाशा देखता रहा. मरीज़ की पत्नी सहायता की गुहार लगाती रही. लेकिन कोई भी मदद के लिए सामने नहीं आया. नतीजतन मौक़े पर ही उस व्यक्ति की मौत हो गई. अब तीन-सदस्यीय टीम मामले की जाँच कर रही है.

    कोलकाता के बेहला इलाक़े में एक वयस्क व्यक्ति की मौत के बाद 15 घंटे तक शव घर में पड़ा रहा. बार-बार सूचना देने के बावजूद न तो पुलिस मौक़े पर पहुँची और न ही स्वास्थ्य विभाग के लोग.

    सरकार की नाक के नीचे राजधानी कोलकाता से लगभग रोज़ाना सामने आने वाली ऐसी खबरें अब शायद कहीं किसी को परेशान नहीं करतीं. जब राजधानी का यह हाल है तो राज्य के बाकी ज़िलों की हालत का अनुमान लगाना बहुत मुश्किल नहीं है.

    पश्चिम बंगाल में कोरोना: ना मरीज़ को इलाज, ना मुर्दे को श्मशान

    पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति

    पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य व्यवस्था की टूटती कमर से कोरोना की मार दोगुनी हो गई है. सरकारी दावे की खुली पोल.

    और पढ़ें
    next
  5. प्रभाकर मणि तिवारी

    कोलकाता से, बीबीसी हिंदी के लिए

    पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति

    पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य व्यवस्था की टूटती कमर से कोरोना की मार दोगुनी हो गई है. सरकारी दावे की खुली पोल.

    और पढ़ें
    next
  6. योगिता लिमये

    बीबीसी संवाददाता

    चर्चिल

    1943 में बंगाल में आए अकाल में 30 लाख से अधिक लोग मारे गए. इस दौरान कुछ फ़ैसलों को लेकर चर्चिल की भूमिका हमेशा सवालों के घेरे में रहती है.

    और पढ़ें
    next
  7. पश्चिम बंगाल: लॉकडाउन तोड़ने वालों पर लाठीचार्ज, 100 से ज़्यादा गिरफ़्तार

    प्रभाकर मणि तिवारी

    कोलकाता से, बीबीसी हिंदी के लिए

    पश्चिम बंगाल में शनिवार को इस सप्ताह के दूसरे लॉक डाउन के दौरान पुलिस प्रशासन सख़्त नज़र आ रहा है.

    पाबंदियों का उल्लंघन करने वालों पर कुछ जगहों पर लाठीचार्ज भी किया गया. नियम तोड़ने के आरोप में 100 से ज़्यादा लोगों को गिरफ़्तार भी किया गया है.

    लॉकडाउन में शनिवार सभी उड़ानें और लंबी दूरी की ट्रेनें भी रद्द कर दी गई हैं.

    हालांकि इन सभी कोशिशों के बावजूद राज्य में संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है. बीते 24 घंटे के दौरान पश्चिम बंगाल में कोरोना के 2,216 नए मरीज़ सामने आए. वहीं संक्रमण के कारण 35 लोगों की मौत हो गई.

    राज्य में मृतकों की संख्या बढ़ कर 1,290 हो गई है वहीं संक्रमितों की कुल तादाद 53,973 तक पहुंच गई है.

    दूसरी तरफ़ स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी बताते हैं, “राज्य में कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होने वाले मरीजों का प्रतिशत 62.12 प्रतिशत तक पहुंच गया है. बंगाल में शुक्रवार को 1,873 मरीज़ होकर घर लौटे. यह अब तक का नया रिकॉर्ड है.”

    पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण
  8. संक्रमण से जूझता कोलकाता, ट्रैफ़िक पुलिस अधिकारी की मौत

    प्रभाकर मणि तिवारी

    कोलकाता से, बीबीसी हिंदी के लिए

    पश्चिम बंगाल में कोरोना संक्रमण के मामले में कोलकाता शीर्ष पर पहुंच गया है. इसके बाद पड़ोसी उत्तर 24-परगना जिला दूसरे स्थान पर है.

    कोरोना संक्रमण की वजह से शुक्रवार को ट्रैफ़िक पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर अभिज्ञान मुखर्जी की मौत हो गई.

    राज्य में रोजाना जितने नए मामले सामने आ रहे हैं, उनमें आधे से ज्यादा कोलकाता के ही हैं. मृतकों के मामले में भी आंकड़ा यही है. विशेषज्ञों का कहना है कि कोलकाता की सघन आबादी ही तेजी से फैलते संक्रमण की मुख्य वजह है.

    स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में कहा गया है कि बीते 24 घंटों के दौरान राजधानी कोलकाता में एक बार फिर सबसे ज़्यादा 795 नए मामले आए हैं.

    एक दिन पहले भी महानगर में 692 नए मामले आए थे. अब कोलकाता में संक्रमितों की कुल संख्या 16,127 हो गई है. इनमें 5,908 सक्रिय मामले है.

    राज्य में अब तक कोरोना की वजह से जिन 1255 लोगों की मौत हुई है, उनमें 642 अकेले कोलकाता के ही हैं.इसके बाद उत्तर 24 परगना में भी हावड़ा में 303 औऱ दक्षिण 24 परगना से 173 नए मामले आए हैं.

    संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने सप्ताह में दो दिन पूर्ण लॉकडाउन का फ़ैसला किया है. इसके तहत गुरुवार को लॉकडाउन के बाद शुक्रवार को कंटेनमेंट ज़ोन के अलावा बाकी सब जगह आम जनजीवन सामान्य रहा. अब शनिवार को फिर पूर्ण लॉकडाउन रहेगा.

    कोलकाता
    Image caption: अभिज्ञान मुखर्जी
    कोलकाता
  9. पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन के बावजूद रिकॉर्ड नए मामले

    बंगाल

    प्रभाकर मणि तिवारी

    कोलकाता से, बीबीसी हिंदी के लिए

    पश्चिम बंगाल में गुरुवार को अब तक के सबसे सख्त लॉकडाउन के बावजूद रिकॉर्ड 2,436 नए मरीज सामने आए हैं. इससे संक्रमितों की संख्या 51,757 हो गई है. इस दौरान 34 मरीजों की मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या भी 1,255 तक पहुंच गई है.

    संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने दार्जिलिंग पर्वतीय क्षेत्र के मिरिक और कर्सियांग में रविवार से सात दिनों के लॉकडाउन का एलान किया है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में इसकी जानकारी दी गई.

    गुरुवार को सख्त लॉकडाउन की वजह से राजधानी कोलकाता समेत राज्य के दूसरे हिस्सों में आम जनजवीन ठप रहा. कोलकाता में तो कर्फ्यू जैसा नजारा रहा.

    बंगाल

    इस दौरान पुलिस ने भी सख्ती बरती और जगह-जगह चेकिंग के दौरान बिना किसी ठोस वजह के बाहर निकलने वालों को लौटा दिया गया.

    कई इलाकों में ड्रोन से भी नजर रखी गई. तेजी से बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए ही सरकार ने सप्ताह में दो दिन पूर्ण लॉकडाउन का फैसला किया था.

    इसके तहत गुरुवार के अलावा शनिवार को भी लॉकडाउन रहेगा. अगले सप्ताह बुधवार के अलावा और एक दिन सब कुछ बंद रहेगा.

    इस लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाओँ के अलावा सब कुछ बंद रखा गया.

  10. bihar

    कोरोना के साथ-साथ भारी बारिश से उपजे बाढ़ के इस विकराल रूप पर बिहार, असम और पश्चिम बंगाल से एक रिपोर्ट.

    और पढ़ें
    next