मनमोहन सिंह

  1. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कोरोना संक्रमण के बाद एम्स में भर्ती

    View more on twitter

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कोरोना संक्रमित हो गए हैं.

    समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया है.

    मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ उन्हें बुख़ार है.

    राहुल गांधी ने मनमोहन सिंह को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हम आपके जल्द ठीक होने की कामना करते हैं. इस मुश्किल घड़ी में देश को आपके मार्गदर्शन की ज़रूरत है.

    View more on twitter
    View more on twitter

    मनमोहन सिंह की सेहत की ख़बर सामने आने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, "अभी अभी मालूम हुआ कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कोरोना संक्रमित हो गए हैं. उनके पूरी तरह से स्वस्थ होने की कामना करती हूं."

  2. डॉक्टर हर्षवर्धन

    कोरोना महामारी की बिगड़ती स्थिति पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को जो चिट्ठी रविवार को भेजी थी, उसका जवाब मोदी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन की ओर से आया है.

    और पढ़ें
    next
  3. कोरोना संकट पर मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को दिए पांच सुझाव

    मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी
    Image caption: मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी

    पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है.

    रविवार को भेजी गई इस चिट्ठी में मनमोहन सिंह ने सुझाव दिया है कि कोविड टीकाकरण अभियान में तेजी लाकर कोरोना महामारी से मुकाबला किया जा सकता है.

    मनमोहन सिंह का कहना है कि कितने लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जा रही है, ये देखने के बजाय आबादी के कितने प्रतिशत हिस्से का टीकाकरण किया जा रहा है, ये देखा जाना चाहिए.

    उन्होंने इस ओर ध्यान दिलाया कि भारत में आबादी के एक बहुत छोटे से हिस्से को ही अभी तक टीका मिल पाया है.

    पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि सही नीति अपनाकर हम बेहतर और बहुत जल्दी नतीजे दे सकते हैं. मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी को लिखी अपनी चिट्ठी में इस सिलसिले में कई सुझाव भी दिए हैं.

    उन्होंने कहा, "महामारी से लड़ने के लिए हमें कई कदम उठाने चाहिए. लेकिन इन कोशिशों का बड़ा हिस्सा टीकाकरण अभियान में तेजी लाना होना चाहिए."

    मनमोहन सिंह ने कहा है कि वे अपने सुझाव सरकार के विचार के लिए भेज रहे हैं. उनकी भावना रचनात्मक सहयोग की है जिस पर उन्होंने हमेशा विश्वास और अमल किया है.

    मनमोहन सिंह की ओर से भेजे गए इन सुझावों से एक दिन पहले कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई थी जिसमें कोरोना महामारी से लड़ने के तौर तरीकों पर चर्चा हुई.

    पूर्व प्रधानमंत्री की ये राय है कि केंद्र सरकार को अगले छह महीने के लिए कोरोना वैक्सीन के ऑर्डर और डिलेवरी का ब्योरा सार्वजनिक करना चाहिए और साथ ही सरकार ये भी बताना चाहिए कि कोरोना वैक्सीन की आपूर्ति राज्यों को किस तरह से की जाएगी.

    भारत में पिछले चार दिनों से हर रोज़ कोरोना संक्रमण के दो लाख मामले रिकॉर्ड किए जा रहे हैं.

  4. टीम बीबीसी

    तेलुगू सेवा

    माओवादी

    बीजापुर में सुरक्षाबलों और माओवादियों के बीच हुई मुठभेड़ के बाद ऐसे सवाल खड़े हो रहे हैं कि माओवादी कितनी मज़बूत स्थिति में हैं.

    और पढ़ें
    next
  5. Video content

    Video caption: तेल की महंगाई के लिए क्या पिछली सरकारें ज़िम्मेदार हैं?

    17 फ़रवरी को दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल 89.54 रुपए में मिल रहा था. दिल्ली में डीज़ल की क़ीमत भी प्रति लीटर 80.27 रुपए हो गई है.

  6. इमरान क़ुरैशी

    बेंगलुरु से, बीबीसी हिंदी के लिए

    श्रीधरन

    मेट्रो मैन’ के नाम से प्रसिद्ध ई. श्रीधरन की क्षमता को लेकर न तो अटल बिहारी वाजपेयी और न ही मनमोहन सिंह को कोई शक रहा. नरेंद्र मोदी भी इसी कड़ी में शामिल हैं.

    और पढ़ें
    next
  7. Video content

    Video caption: ओबामा ने मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी के बारे में क्या लिखा?

    अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के संस्मरणों पर आधारित किताब भारत में हल्की-फुल्की हलचल मचा चुकी है.

  8. सौतिक विस्वास

    बीबीसी संवाददाता

    बराक ओबामा और मनमोहन सिंह

    'ए प्रोमिस्ड लैंड' नाम की किताब ओबामा के राजनीतिक जीवन पर आधारित संस्मरण का पहला अंक है जिसमें उन्होंने करीब 14 सौ शब्द नवंबर 2010 की अपनी पहली भारत यात्रा पर ख़र्च किए हैं.

    और पढ़ें
    next
  9. Video content

    Video caption: Vivechana- मनमोहन सिंह की शख़्सियत और उनके कार्यकाल के किस्से

    मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी के संबंधों की पहली परीक्षा हुई थी जब 15 अगस्त, 2004 को उन्हें लाल क़िले की प्राचीर से देश को संबोधित करना था.

  10. ज़ुबैर अहमद

    बीबीसी संवाददाता, दिल्ली

    प्रणब मुखर्जी

    प्रणब मुखर्जी का सियासी सितारा इंदिरा गांधी के ज़माने में काफ़ी चमका, मगर राजीव गांधी के प्रधानमंत्री बनते ही वो सितारा गर्दिश में चला गया था. ना केवल मंत्रिपद गया, बल्कि उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया.

    और पढ़ें
    next