भारत में दलित

  1. Video content

    Video caption: मारीचामी: ‘अपने हिस्से के भगवान’ के लिए संघर्ष, पिछड़ी जाति का पुजारी

    ये कहानी है उस भारतीय की, जिसने ईश्वर और पूजा के लिए अपने अधिकार की लड़ाई लड़ी.

  2. Video content

    Video caption: मदुरै के टी. मारीचामी की कहानी प्रोत्साहित करने वाली है.

    ये कहानी उस भारतीय की है, जिसने ईश्वर और पूजा के लिए अधिकार की लड़ाई लड़ी.

  3. दिलनवाज़ पाशा

    बीबीसी संवाददाता, खुर्जा से लौटकर

    बुलंदशहर

    ऑनर किलिंग, हिरासत में हत्या या आत्महत्या और हाथरस कांड की तरह परिवार की मर्ज़ी के बग़ैर बिना पोस्टमॉर्टम के लाश जलाने का मामला.

    और पढ़ें
    next
  4. भीमराव आंबेडकर, महात्मा गांधी

    1955 में डॉक्टर आंबेडकर ने बीबीसी के साथ महात्मा गांधी के साथ अपने संबंधों पर बात की थी. आंबेडकर की पुण्यतिथि पर विशेष.

    और पढ़ें
    next
  5. चिंकी सिन्हा

    फूलन देवी के गांव से लौट कर, बीबीसी हिंदी के लिए

    फूलन देवी

    फूलन देवी के साथ जो कुछ हुआ उसे क़रीब 40 बरस बीत गए. लेकिन उनके गांव से हाथरस के बीच पांच घंटे और चालीस बरस लंबा यह फ़ासला आज भी कायम है. यह फ़ासला है न्याय और नाइंसाफी के बीच का, लोगों के बीच का और दो समुदायों के बीच का.

    और पढ़ें
    next
  6. समीरात्मज मिश्र

    बीबीसी हिंदी के लिए

    हाथरस

    मृतक युवती के परिजन जहां न्यायिक जांच की मांग पर अड़े हैं वहीं पुलिस अब इस घटना को 'इतना तूल' देने के पीछे अंतरराष्ट्रीय साज़िश की बात कह रही है.

    और पढ़ें
    next
  7. सीटू तिवारी

    चिलबिली पंचायत से

    महादलित टोला

    पटना के एक महादलित टोले के लोग बताते है कि मुख्यमंत्री के 2016 में आने से पहले रोड को 'अस्थायी तौर पर' ठीक किया गया था लेकिन उसके बाद कभी रोड ठीक करने का काम नहीं हुआ.

    और पढ़ें
    next
  8. सर्वप्रिया सांगवान

    बीबीसी संवाददाता

    बिहार चुनाव रैली

    बिहार चुनाव की बात होते ही जातिगत समीकरणों का ज़िक्र शुरू हो जाता है. लेकिन बिहार में जाति फ़ैक्टर पिछले कुछ सालों में कितना बदला है?

    और पढ़ें
    next
  9. विनीत खरे

    बीबीसी संवाददाता, वाशिंगटन

    दलित

    कैलिफ़ोर्निया के डिपार्टमेंट ऑफ़ फ़ेयर इंप्लायमेंट और हाउसिंग ने सिस्को में एक दलित कर्मचारी के साथ जातिगत भेदभाव करने के चलते 30 जून को मुक़दमा दर्ज कराया है.

    और पढ़ें
    next
  10. प्रियंका दुबे

    बीबीसी संवाददाता

    मठिया माफ़ी मुसहर पट्टी गाँव

    भूमिहीन मुसहर समुदाय के लोग दशकों से शिक्षा, पोषण और पक्के घरों जैसी मूलभूत सुविधाओं से वंचित रहे हैं. कोरोना ने मुश्किलें और बढ़ा दी हैं.

    और पढ़ें
    next