संगीत के साथ क्रिप्टोकरेंसी के फ़ायदे-नुकसान समझाती लड़कियां

  • 15 फरवरी 2018
संगीत इमेज कॉपीरइट Getty Images

हर ख़ुशी के मौक़े पर संगीत के साथ जश्न मनाया जाता है. जब दिल खुश होता है तो भी हम ख़ुद-ब-ख़ुद गुनगुनाने लगते हैं. संगीत हमें अलग ही दुनिया में ले जाता है.

यानी मौसीक़ी का ख़ुशियों से गहरा रिश्ता है. बहुत से लोग तो दुख से निजात भी संगीत में तलाशते हैं.

कुछ लोग ऐसे भी हैं जो पैसे से हरेक चीज़ और ख़ुशी ख़रीदने का दावा करते हैं. लेकिन इस ख़्याल को ख़ारिज करने वाले भी कम नहीं हैं.

ऐसे लोगों को लगता है, भले ही पैसे से दुनिया की हरेक चीज़ खरीदी जा सकती है लेकिन संगीत और उससे मिलने वाला सुकून बेमोल है.

पैसे का ताल्लुक़ भौतिक दुनिया से है. इससे साज़ो-सामान तो ख़रीदा जा सकता है लेकिन खुशियां और सुकून नहीं. जबकि मौसिक़ी का ताल्लुक़ रूहानी दुनिया से है. जिसे सिर्फ महसूस किया जा सकता है.

पैसा और संगीत दोनों दो अलग दुनिया की बातें हैं. एक ज़िंदगी की ज़रूरतें पूरा करता है, तो दूसरा ज़िंदगी को सुकून पहुंचाता है. अब अगर इन दोनों का कॉकटेल तैयार कर दिया जाए तो कैसा रहेगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्या है क्रिप्टोकरेंसी?

जापान में ऐसी ही कोशिश की जा रही है. यहां लड़कियों का एक पॉप ग्रुप नाच-गा कर लोगों को नए ज़माने की दौलत यानी डिजिटल करेंसी यानी क्रिप्टोकरेंसी की ख़ासियतें लोगों को समझा रहा है.

चलिए आगे बढ़ने से पहले क्रिप्टोकरेंसी या वर्चुअल करेंसी के बारे में बताते हैं. क्रिप्टोकरेंसी ऐसी मुद्रा है जिसे किसी ने आज तक नहीं देखा. लेकिन इसका क्रेज़ दुनिया भर में फैलता जा रहा है.

ये किसी एक देश की करेंसी नहीं है. और ना ही किसी बैंक में रहती है. बल्कि ये सारी दुनिया की मुद्रा है. ये डिजिटल वर्ल्ड में रहती है. इसे डिजिटल तरीक़े से बनाया जाता है.

क्रिप्टोकरेंसी के बहुत से नाम हैं लेकिन सबसे ज़्यादा प्रचलित और लोकप्रिय है बिटकॉइन. इस करेंसी को कोई रेगुलेट नहीं करता, ना ही इस पर किसी का ज़ोर है. यही वजह है कि बहुत से देशों में इस पर पाबंदी है.

ख़ुद भारत में भी इसे ग़ैर क़ानूनी माना गया है. सरकार की नज़र में ये एक ख़ास तरह की सट्टेबाज़ी है. चूंकि ये करेंसी गुप्त रखी जा सकती है, लिहाज़ा इसका उपयोग, घोटाले, हेर-फेर, टैक्स चोरी और मनी लॉन्डरिंग में होने का डर है.

वर्चुअल करेंसी का सबसे बड़ा नुक़सान ये है, कि अगर आपका कंप्यूटर हैक हो गया, तो ये रिकवर नहीं हो सकती. इसकी ट्रांज़ेक्शन को भी ट्रैक नहीं किया जा सकता है. चूंकि इसे कोई सरकार या बैंक रेगुलेट नहीं करता, लिहाज़ा इसकी शिकायत भी नहीं की जा सकती.

इमेज कॉपीरइट Reuters

वर्चुअल करेंसी गर्ल्स

इतनी कमियों के बावजूद क्रिप्टोकरेंसी को मक़बूल बनाने की कोशिश की जा रही है. जापान का ए-जे पॉप बैंड इसमें अहम भूमिका निभा रहा है.

इन्हें वर्चुअल करेंसी गर्ल्स के नाम से जाना जाता है. इस बैंड की सभी लड़कियां दुनिया में चल रही अलग-अलग वर्चुअल करेंसी की नुमाइंदगी करती हैं. ग्रुप लीडर का नाम है नरूसा, जो बिटकॉइन के नाम से गाने गाती हैं.

दरअसल क्रिप्टोकरेंसी की शुरूआत जापान से ही हुई थी. सबसे पहली करेंसी का नाम था 'मोनाकॉइन'. इस ग्रुप की सभी लड़कियों का मानना है कि संगीत जागरूकता फैलाने का सबसे अच्छा ज़रिया है.

ये सभी लड़कियां संगीत प्रेमी हैं. इसीलिए मौसिक़ी के साथ ये लोगों को जागरूक करने का प्रयास कर रही हैं. वो चाहती हैं कि सिर्फ़ बिटकॉइन ही नहीं बल्कि क्रिप्टोकरेंसी के सभी रूप शोहरत पाएं. इनके मुताबिक़ क्रिप्टोकरेंसी इतनी भी बुरी नहीं जितना समझा जाता है.

ये पॉप ग्रुप क्रिप्टोकरेंसी से होने वाली धोखाधड़ी के बारे में भी लोगों को जानकारी देता है. चूंकि ये पूरी तरह से डिजिटल है, लिहाज़ा सतर्क रहने की ज़रूरत है.

अपना पासवर्ड बहुत ध्यान से और ख़ुफ़िया तरीके से इस्तेमाल करने की ज़रूरत है. अपना पासवर्ड जल्द जल्दी बदलते रहना चाहिए, ताकि हैकर्स इसे आसानी से हैक ना कर सकें.

इमेज कॉपीरइट BBC/video grab

कैसे मिलती है तनख्वाह?

सबसे दिलचस्प बात तो ये है कि इस ग्रुप में काम करने वाली लड़कियों को तनख़्वाह क्रिप्टोकरेंसी में ही दी जाती है. जो लड़की जिस करेंसी की नुमाइंदगी करती है, उसे उसी करेंसी में मेहनताना दिया जाता है.

क्रिप्टोकरेंसी के दाम शेयर्स के दाम की तरह चढ़ते, उतरते रहते हैं. लिहाज़ा तनख़्वाह मिलने वाले दिन इन लड़कियों की धड़कन बढ़ी रहती है.

इस पॉप ग्रुप का शो देखने के लिए इनके चाहने वाले शो कि टिकट भी क्रिप्टोकरेंसी में खरीदते हैं. क्रिप्टोकरेंसी को बढ़ावा देना इस पॉप ग्रुप का मिशन है. लिहाज़ा इनकी कोशिश रहती है कि ग्रुप की जो लड़की जिस करेंसी के नाम से ख़ुद को पेश है, वो ख़ूब फले फूले.

इमेज कॉपीरइट BBC/video grab

बहुत हद तक इनकी कोशिश रंग ला भी रही है. ख़ुद इन लड़कियों का कहना है कि इनके बहुत से दोस्तों ने क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानने के लिए नेट पर सर्च किया और अब वो इस करेंसी का इस्तेमाल करते हैं.

इस ग्रुप को उम्मीद है कि बहुत जल्द दुनिया में इस करेंसी का क्रेज़ लोगों के सिर चढ़कर बोलेगा.

(बीबीसी कैपिटल पर इस स्टोरी को इंग्लिश में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. आप बीबीसी कैपिटल को फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए