स्विट्जरलैंड को कैश से इतनी मोहब्बत क्यों है?

  • 28 अप्रैल 2019
Switzerland, Cash, स्विटजरलैंड, कैश इमेज कॉपीरइट Alamy

स्विस नेशनल बैंक (SNB) ने पिछले महीने एक नया स्मार्ट बैंक नोट जारी किया. जामुनी रंग का 1000 फ्रैंक का यह नोट SNB का सबसे नया नोट है.

यह पहले से थोड़ा छोटा है और इसमें ग्लोब के ऊपर दो लोगों को हाथ मिलाते दिखाया गया है. इस नोट की थीम इंसान का संचारी स्वभाव है.

यह कोई साधारण नोट नहीं है. यह दुनिया के सबसे कीमती बैंक नोट में से एक है. इसका मूल्य 880 यूरो (1007 डॉलर या 764 पाउंड) के बराबर है.

SNB के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक ऐसे 4 करोड़ 80 लाख बैंक नोट चलन में आ रहे हैं जिनका मूल्य स्विट्जरलैंड के कुल बैंक नोट के मूल्य का लगभग 60 फ़ीसदी है.

स्विट्जरलैंड में यह बैंक नोट ऐसे समय जारी किया गया है जबकि दूसरे देश अपने बड़े नोटों को धीरे-धीरे चलन से बाहर कर रहे हैं और यूरोपीय देशों में नकदी का इस्तेमाल घट रहा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अपना बटुआ लाओ

मार्च की शुरुआत में नये बैंक नोट पर चर्चा करते हुए स्विस नेशनल बैंक के उपाध्यक्ष फ्रिट्ज़ ज़रब्रेग ने नकदी को स्विस संस्कृति का हिस्सा बताया था.

ज़रब्रेग के मुताबिक 1,000 फ्रैंक का नोट लोगों की इच्छाओं के अनुरूप है.

उन्होंने उच्च मूल्य की खरीद, पोस्ट ऑफिस में बिल के भुगतान और धन संग्रह के लिए इस नोट को लोकप्रिय कहा था.

स्विट्जरलैंड में भुगतान के लिए अब भी नकदी ही सबसे लोकप्रिय है. डिजिटल इकॉनमी बढ़ने के बावजूद यहां माना जाता है कि सभी लोग कैश रखते हैं.

सैंडविच ख़रीदने पर या बाल कटवाने के बाद कोई यह नहीं चाहता कि कार्ड से भुगतान की मशीन ख़राब हो और वे फंस जाएं.

अगर कॉफी पीने के बाद भी आप 100 फ्रैंक के नोट से भुगतान करें तो कोई आपत्ति नहीं करता, न ही आपसे छुट्टे पैसे मांगे जाते हैं.

ज़्यादा ख़रीदारी के लिए कुछ बैंक भी बिना किसी नोटिस के एक दिन में 5,000 फ्रैंक या (महीने में 10,000 फ्रैंक) निकासी की इज़ाज़त देते हैं.

हज़ारों फ्रैंक की कार ख़रीदने के लिए भी नकद भुगतान करना असामान्य नहीं है.

2017 के SNB सर्वेक्षण में 2,000 स्विस प्रतिभागियों के भुगतान व्यवहार का अध्ययन करने पर पाया गया कि उन्होंने 70 फ़ीसदी भुगतान नकदी में किया था.

डेबिट कार्ड से उन्होंने 22 फ़ीसदी भुगतान किए और क्रेडिट कार्ड से सिर्फ़ 5 फ़ीसदी.

पेमेंट एप्स और कांटैक्ट-लेस कार्ड जैसे नये भुगतान तरीकों से बहुत ही कम भुगतान किए गए.

बैंक फ़ॉर इंटरनेशनल सेटलमेंट्स (BIS) की 2018 की रिपोर्ट कहती है कि वैश्विक स्तर पर जो भुगतान पहले नकदी में किए जाते थे, वे अब इलेक्ट्निक हो रहे हैं.

हालांकि स्विट्जरलैंड के पड़ोसी देश जर्मनी में भी नकदी का मोह बना हुआ है लेकिन दूसरे यूरोपीय देश, जैसे स्वीडन और नीदरलैंड बड़ी तेज़ी से इससे दूर जा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट SNB Archive

नकदी ही असली पैसा

स्विट्जरलैंड के लोग नकदी क्यों पसंद करते हैं? इसके दो सामान्य कारण हैं- नकदी को वे अपनी संस्कृति का हिस्सा मानते हैं और उनको लगता है कि इससे वे अपने ख़र्च पर नियंत्रण रख सकते हैं.

बेसेल में रहने वाली 53 साल की क्रिस ट्रोइनी इसकी पुष्टि करती हैं. उनका कहना है कि वह कई लोगों को जानती हैं जो अपने बटुए में ढेर सारी नकदी रखकर आश्वस्त रहते हैं.

44 साल के फिलिप चैपुस कार्ड से या मोबाइल एप से भुगतान करना पसंद करते हैं. वह कहते हैं, "मुझे पसंद नहीं कि मेरा बटुआ सिक्कों से भरा रहे."

फिर भी वह समझते हैं कि स्विट्जरलैंड के लोगों को नकदी क्यों पसंद है.

उनका कहना है कि स्विस नेशनल बैंक की नकारात्मक ब्याज दर ने बैंकों की संभावित प्रतिक्रिया के बारे में अनिश्चितता बढ़ा दी है.

नकदी नोट मूर्त हैं. उनको छूकर महसूस किया जा सकता है. यह आपके पास हो तो इसके मालिक होने का अहसास होता है.

बेसेल के मार्केटप्लेत्ज़ के दूसरे कारोबारियों की तरह जर्गन एंगलर केवल नकदी स्वीकार करते हैं.

वह कहते हैं, "महीने में दो या तीन ग्राहक कार्ड से भुगतान करने के लिए कहते हैं. जब मैं दुकानों में जाता हूं तो कार्ड से पेमेंट करना पसंद करता हूं, लेकिन जब मैं बाज़ार जाता हूं या रेस्तरां में जाता हूं तो हमेशा नकदी देता हूं."

नकदी की अपार लोकप्रियता के बावजूद मोबाइल भुगतान ऐप, जैसे 'ट्विंट' या 'वी पे' का इस्तेमाल बढ़ रहा है.

2017 के एक अध्ययन में निष्कर्ष निकाला गया था कि कभी-कभार मोबाइल ऐप से भुगतान करने वाले स्विस उपभोक्ताओं का अनुपात बढ़ रहा था.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

ख़र्च पर नियंत्रण

29 साल की जेन केटनर भुगतान के नये तरीकों को अपनाने वाली युवा पीढ़ी का हिस्सा हैं. लेकिन उनको अब भी लगता है कि नकद भुगतान करने से उनका अपने ख़र्च पर ज़्यादा नियंत्रण रहता है.

वह कहती हैं, "इलेक्ट्रॉनिक भुगतान करने से आप आसानी से पैसे ख़र्च करते हैं."

बेसेल यूनिवर्सिटी के मनोवैज्ञानिक और मार्केटिंग के प्रोफेसर मिगेल ब्रेंड्ल भी यही बात दोहराते हैं.

"मोटी समझ कहती है कि वर्चुअल फ्रैंक ख़र्च करने में ऐसा महसूस हो सकता है कि आप नकद से कम ख़र्च कर रहे हैं. लेकिन अगर यह सच हो तो भी इससे इस सवाल का पूरा जवाब नहीं मिलता कि लोग नकदी क्यों पसंद करते हैं."

यहां पहचान का एक कारक भी है. स्विट्जरलैंड में निजता को बहुत अहमियत दी जाती है और लोग नहीं चाहते कोई उनको बताए कि उनको क्या करना है.

वे ख़ुद को यूरोपीय संघ के पड़ोसियों से अलग समझते हैं और अपनी परंपराओं- भाषा, राजनीतिक व्यवस्था और मुद्रा- की दिल से हिफ़ाज़त करते हैं.

स्विट्जरलैंड के पड़ोसी मुल्क बड़े करेंसी नोट को अपराधियों का मददगार समझते हैं.

अपराध पर काबू पाने के लिए यूरोज़ोन के 19 में से 17 केंद्रीय बैंक 500 यूरो के नोट की छपाई बंद करने पर राज़ी हो चुके हैं.

जर्मनी का बुंडसबैंक और ऑस्ट्रिया का नेशनल बैंक भी जल्द ही इसमें शामिल हो सकते हैं.

बैंक से ज़्यादा पैसे निकालने हों तो बड़े नोट में सहूलियत होती है, ख़ासकर साल के अंत में जब स्विट्जरलैंड के सभी लोगों को अपना बैंक स्टेटमेंट टैक्स अधिकारियों को दिखाना पड़ता है.

फ्रिट्ज़ ज़रब्रेग इस बात नहीं मानते कि 1,000 फ्रैंक के नोट को दूसरों से ज़्यादा अपराधी इस्तेमाल करते हैं. लेकिन वह यह मानते हैं कि क्रिसमस के मौके पर दुकानदारों की नकदी की मांग बढ़ जाती है. यह "टैक्स से बचने के लिए" भी हो सकता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

निजता और सहूलियत

ज़्यूरिख में एचडब्ल्यूज़ेड यूनिवर्सिटी ऑफ़ एप्लाइड साइंसेज़ के इंस्टीट्यूट ऑफ़ डिजिटल बिजनेस के पैट्रिक कॉम्बोफ सामाजिक कार्यकर्ताओं के एक समूह द्वारा बनाए गए थिंक टैंक फ़िनटेक्रोकर्स के बोर्ड मेंबर हैं.

कॉम्बोफ को उम्मीद है कि समय के साथ स्विट्जरलैंड नकदी से दूर हो जाएगा.

"नकदी-रहित भुगतान को सबसे ज़्यादा बढ़ावा बेहतरीन उपभोग-अनुभव से मिलता है. दुर्भाग्य से स्विट्जरलैंड में आज की किसी भी अवधारणा में यह सबसे ज़्यादा उपेक्षित है."

लेकिन उनको लगता है कि डिजिटल युग में असली ताक़त वित्तीय सेवा उद्योग से निकलकर उपभोक्ताओं के हाथ में जा रही है. इससे उपभोक्ता सेवाओं पर फ़ोकस बढ़ रहा है.

स्विट्जरलैंड के स्टार्ट-अप्स और स्थापित कंपनियां, दोनों में क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन तकनीक गर्मागर्म विषय बने हुए हैं.

लुसेर्न यूनिवर्सिटी के हाल के शोध में पाया गया कि 2018 में स्विट्जरलैंड के फाइनेंशियल टेक का विकास बढ़ा है, कंपनियों की तादाद भी बढ़ी है और उसमें उद्यम पूंजी का निवेश भी बढ़ा है.

स्विट्जरलैंड की व्यापारिक सलाहकार कंपनी फ़ोआइंडर के सीईओ जोनाथन री का मानना है कि रोजमर्रा के लेन-देन क्रिप्टोकरेंसी में होने लगे, ऐसा कम से कम अगले एक दशक तक नहीं होने जा रहा.

"लोगों का बड़े पैमाने पर इसे अपनाना निजता, सहूलियत, आत्म पहचान और कर्ज में डूबने पर नकदी से होने वाले कथित बचाव के बीच की दुविधा पर निर्भर करेगा."

अभी स्विट्जरलैंड के बहुत सारे लोग अपनी पहचान की गोपनीयता औऱ आज़ादी को महत्व देते है. यह नकदी से मिल जाता है.

अब नये ख़ूबसूरत नोट बाज़ार में आ रहे हैं. आप चाहें तो उनको लंबे समय तक बटुए में रख सकते हैं.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी कैपिटल पर इस स्टोरी को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. आप बीबीसी कैपिटल को फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार