यह आदमी रोज़ उड़कर ऑफिस पहुंचता है

  • 13 अगस्त 2019
टॉम प्राइडो-ब्रून इमेज कॉपीरइट Facebook/Tom Prideaux-Brune

ट्रैफिक जाम में फंसने पर उड़कर ऑफिस पहुंचने का ख़्वाब कई लोग देखते हैं. इंग्लैंड के एक पैरामोटर ग्लाइडर ने इसे सच कर दिखाया है.

मैदान के बीच में खड़े टॉम प्राइडो-ब्रून ने अपनी पीठ पर एक बड़ा जालीदार घेरा और पैरामोटर ग्लाइडर से जुड़ी पट्टियां बांध रखी हैं.

वह कंधे के ऊपर से रस्सी खींचकर पीछे बंधे मोटर को चालू कर देते हैं. मोटर ऑन होते ही पीठ पर बंधा बड़ा पंखा घूमने लगता है.

प्राइडो-ब्रून मैदान में दौड़ना शुरू करते हैं और 10-12 कदम दौड़ते ही अपने दोनों पैर हवा में उठा देते हैं.

उनका पैरामोटर ग्लाइडर तब तक काम करने लगता है. वह उनके शरीर का पूरा बोझ उठा लेता है.

इस तरह हवाई मार्ग से उनके ऑफिस का सफ़र शुरू हो जाता है.

इमेज कॉपीरइट Facebook/Tom Prideaux-Brune

ऑफिस का हवाई सफ़र

टॉम प्राइडो-ब्रून का ऑफिस दक्षिण पश्चिमी इंग्लैंड के विल्टशायर में है. मौसम साफ हो तो वह हर दिन इसी तरह से दफ़्तर पहुंचते हैं.

वह कहते हैं, "पायलट के रूप में मैं हर सुबह पहला काम यह करता हूं कि खिड़कियों के पर्दे हटाकर बाहर का मौसम देखता हूं."

"आज की सुबह बहुत अच्छी है, एकदम शानदार. मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि यह निश्चित रूप से गाड़ी चलाने से बेहतर है."

प्राइडो-ब्रून शहर में बाइक से चलते हैं या फिर पैदल टहलना पसंद करते हैं. लेकिन उड़ना उन्हें ज़्यादा रोमांचकारी और प्रेरणादायक लगता है.

घर से दफ़्तर जाने के लिए वह शेरबोर्न से डॉर्सेट तक 30 किलोमीटर की उड़ान भरते हैं.

खेतों के ऊपर से उड़ान भरते हुए वह कहते हैं, "आपको अपनी पीठ पर एक बड़ा पंखा बांधना पड़ता है. फिर उसे पैराग्लाइडर से जोड़ना पड़ता है."

पंखे से जुड़े इंजन की ओर इशारा करते हुए वह कहते हैं, "आपको ऐसे बड़े इंजन की ज़रूरत होती है जिसमें चार से पांच लीटर इंधन लगता है."

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
देखिए काम की दीवानगी, तैर कर ऑफ़िस पहुंचते हैं ये शख़्स

50 किलोमीटर प्रति घंटा

वह करीब 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से उड़ते हैं, हालांकि कुछ पैरामोटर ग्लाइडर इससे ज़्यादा रफ़्तार से भी उड़ सकते हैं.

वह कहते हैं, "30 से 35 मील प्रति घंटे की रफ़्तार हो तो सफ़र मज़े में पूरा होता है. ग्लाइडर एडवांस हो तो आप इसकी रफ़्तार को दोगुनी तक बढ़ा सकते हैं."

वह देहाती इलाकों के ऊपर से गुजरते हैं. ऊपर से हरे-भरे खेतों का नज़ारा सुहाना लगता है.

"मेरे लिए उड़ान भरने का मतलब है एक बिल्कुल अलग नज़रिये से दुनिया को देखना. मैं ऊपर से नीचे देखता हूं, स्कूलों और खेतों को देखता हूं. दिन की शुरुआत करने का यह शानदार तरीका है."

प्राइडो-ब्रून का दफ़्तर करीब आता है तो वह अपनी रफ़्तार घटा लेते हैं और धीरे-धीरे नीचे उतर आते हैं. उतरते वक़्त भी उनको 10-15 मीटर की दौड़ लगानी पड़ती है.

वह एक इंजन वाले पैराग्लाइडर का उपयोग करते हैं. वह विल्टशायर में अपने दफ़्तर पहुंचते हैं तो अपने सफ़र के रोमांच से भरे दिखते हैं.

"आप दफ़्तर पहुंचते हैं तो ऊर्जा से भरे रहते हैं. उत्साहित रहते हैं, विचारों से भरे रहते हैं. इससे आपका दिन बढ़िया हो जाता है."

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
कैसे हैं ये फुटबॉलर रोबोट?

उड़ने का अनुभव

टॉम प्राइडो-ब्रून पैराजेट इंटरनेशनल कंपनी के सेल्स एंड मार्केटिंग डायरेक्टर हैं. उनकी कंपनी यह उपकरण बनाती और बेचती है.

वह घर और दफ़्तर के बीच आने-जाने के लिए उड़ान भरने वाले अकेले शख्स नहीं हैं. उनके अपने ऑफिस में 12 के 14 लोग पैरामोटर का इस्तेमाल करके ऑफिस पहुंचते हैं. यह समूह बड़ा हो रहा है.

वह कहते हैं, "हम उड़ने का अनुभव साझा करना चाहते हैं. लोगों को प्रोत्साहित करना चाहते हैं ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोग इसमें शामिल हों."

आधिकारिक रूप से यह तीन-चार साल पहले शुरू हुआ था. यह इस शानदार खेल को लोगों के लिए आसान बनाने के लिए डिजाइन किया गया था.

"हमारा पूरा स्टाफ यह काम करता है. लेकिन एक कहावत है आप अपना अपनी कोशिश वहीं करें जहां आप हालात को सुधार सकें."

"हम यह काम इसलिए करते हैं क्योंकि यह शानदार है. इसमें आपको सबसे आगे रहने की ज़रूरत होती है.

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
जापान के दफ़्तरों में क्यों उड़ रहे हैं ड्रोन

जोखिम वाला रोमांच

पैरामोटरिंग का रोमांच ख़तरे से खाली नहीं है.

प्राइडो-ब्रून कहते हैं, "हम जो करते हैं उसमें जोखिम का एक तत्व भी है. हालांकि इसमें उतना ख़तरा नहीं है जितना देखने वालों को लगता है, फिर भी जोखिम तो रहता ही है."

पिछले साल उनके एक दोस्त का पैरामोटर बिजली के तारों से उलझ गया था. वह जमीन पर गिर पड़े थे, जिससे उनकी मौत हो गई थी.

"हम समुचित प्रशिक्षण से जोखिम को कम करते हैं. अच्छी क्वालिटी की मशीनें और सही स्थितियों में उड़ने का अनुभव ख़तरे को सीमित करता है."

ज़्यादातर हादसे उड़ान भरने के समय होते हैं. पैरामोटर पायलट को सलाह दी जाती है कि वह पानी के ऊपर उड़ान न भरें.

वह कहते हैं, "मुझे लगता है कि ज़्यादातर पायलट इसके जोखिम को समझते हैं लेकिन उड़ने का रोमांच पाने के लिए वे यह ख़तरा उठाने को तैयार रहते हैं."

प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
ब्राज़ील में हेलिकॉप्टर कैब

लंदन के लिए नहीं

अफसोस की बात यह है कि पैरामोटरिंग लंदन के लोगों के लिए नहीं है. लंदन के लोग ऑफिस जाने के लिए पावर मोटर का इस्तेमाल नहीं कर सकते, क्योंकि बड़े निर्माण वाले क्षेत्रों में इसकी इजाजत नहीं है.

दरअसल यह किसी भी ऐसे शहरी क्षेत्र के लिए नहीं है जहां विमानन कानून इस तरह की उड़ान को प्रतिबंधित करते हैं.

लेकिन देहाती क्षेत्रों में इस पर कोई रोक नहीं है. प्राइडो-ब्रून के अधिकतर ग्राहक ऐसे ही क्षेत्रों में रहते हैं.

वह कहते हैं, "आपको विमानन कानूनों की जानकारी होनी चाहिए. लेकिन मेरे ख़्याल में इंग्लैंड के 70 फीसदी आसमान में इस पर कोई पाबंदी नहीं है. इसलिए आपके पास इसके मौके की कोई कमी नहीं है."

यह अच्छे मौसम पर भी निर्भर करता है, इसलिए वह सुनिश्चित करते हैं पैरामोटर ग्लाइडिंग के लिए तैयार होने से पहले मौसम के पूर्वानुमानों को अच्छी तरह देख लें.

(बीबीसी वर्कलाइफ़ पर इस लेख को अंग्रेज़ी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. बीबीसी वर्कलाइफ़ को आपफ़ेसबुक, ट्विटर औरइंस्टाग्राम पर फ़ॉलो कर सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार