भुलक्कड़ हो गए हों तो आज़माएं ये 5 नुस्खे

  • 13 जनवरी 2020
दिमाग़ी मशीन इमेज कॉपीरइट Getty Images

अक्सर हम अपनी याददाश्त कमज़ोर होने की शिकायत करते हैं.

कुछ चीज़ें ख़रीदने बाज़ार जाते हैं. मगर, वहां जाकर भूल जाते हैं कि क्या लेना है. इम्तिहान की तैयारी के लिए ख़ूब पढ़ाई की. पर, जब पर्चे का जवाब लिखने बैठे, तो आधा भूल गए. कभी कोई बहुत दिन बाद मिला, तो उस का नाम ही याद नहीं आता. एक कमरे से उठकर दूसरे कमरे में किसी काम से गए. लेकिन, वहां पहुंचकर भूल गए कि किस काम के लिए आए थे.

वैज्ञानिक कई दशकों से याददाश्त बेहतर करने के तरीक़े तलाश रहे हैं. हालिया रिसर्च से कुछ बातें सामने आई हैं. इन नुस्खों को आज़मा कर हम अपनी याददाश्त बेहतर कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

1. पीछे मुड़कर देखिए

अक्सर सलाह दी जाती है कि 'बीती ताहि बिसार के आगे की सुध लेव.'

यानी पुरानी बातें भूलकर आगे बढ़िए. मगर वैज्ञानिक मानते हैं कि पुरानी बातों को दोहराने से हमारी याददाश्त बेहतर होती है.

हाल में हुई कई रिसर्च ये इशारा करती हैं कि जब हम पुराने तजुर्बों को अपने दिमाग़ में दोहराते हैं. तो उनकी यादें मज़बूती से हमारे ज़ेहन में रजिस्टर हो जाती हैं. तो आप भी कोशिश कीजिए कि हमेशा आगे की सोच रखने के बजाय कभी-कभी पीछे मुड़कर भी देखिए.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

2. तस्वीरें बनाइए

ख़रीदारी के लिए निकलते वक़्त हम अक्सर सामान की लिस्ट बना लेते हैं. लेकिन, याददाश्त बेहतर करनी है, तो सामान का नाम लिखने के बजाय उनकी तस्वीरें बनाइए. जो लोग ऐसा करते हैं, उनकी स्मरण शक्ति बेहतर होती देखी गई है. यहां तक कि डिमेंशिया जैसी बीमारी के मरीज़ों को भी इससे फ़ायदा होता है.

वैज्ञानिक कहते हैं कि जब हम कोई तस्वीर बनाते हैं, तो उस चीज़ के आकार-प्रकार के बारे में ज़्यादा गहराई से सोचते हैं. इसलिए हमारा ज़ेहन उनकी याद को अच्छे से सहेजता है. ये नुस्खा आज़माकर आप भी अपनी याददाश्त को बेहतर कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

3. वर्ज़िश कीजिए, मगर सही समय पर

ये बात कई बार साबित हो चुकी है कि नियमित रूप से वर्ज़िश करने से याददाश्त बेहतर होती है. मसलन, नियमित रूप से दौड़ लगाने से मेमोरी बेहतर होती है.

हालांकि अब रिसर्चरों का कहना है कि इसके लिए समय सही होना चाहिए. इससे याददाश्त बेहतर करना और आसान होगा. हालांकि, वो समय क्या होना चाहिए, इस पर तो वैज्ञानिक अभी रिसर्च कर ही रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

4. कुछ मत कीजिए

हेरियट वाट यूनिवर्सिटी की माइकेला डेवर ने इस बारे में एक रिसर्च की थी. उन्होंने पाया कि अगर सेहतमंद लोग कुछ याद करने के बाद तुरंत ब्रेक लेते हैं, तो उन्हें वो चीज़ें ज़्यादा याद रह जाती हैं.

तो, आप भी प्रयास कीजिए कि कुछ पढ़ने-लिखने के बाद कुछ देर ज़ेहन को शांत छोड़ दीजिए. कुछ मत कीजिए. यूं ही बैठे या लेटे रहिए. ये आप की याददाश्त बढ़ाने में मददगार होगा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

5. एक झपकी लीजिए

अगर आप को याददाश्त बेहतर करने के उपरोक्त चार नुस्खे भारी-भरकम लगते हैं, तो इसे आज़माइए. यूं कीजिए कि थोड़ी देर सो जाइए.

बहुत सी ऐसी रिसर्च हैं, जिन्होंने साबित किया है कि झपकी लेना हमारी स्मरण शक्ति को काफ़ी बढ़ाता है.

लेकिन, इस की एक शर्त है. जो लोग नियमित रूप से ऐसा करते हैं, वो ही झपकी लेने का फ़ायदा उठा सकते हैं.

मतलब ये कि अगर आप लंबे समय तक झपकी लेने की आदत डालेंगे, तो ही आप को याददाश्त बेहतर करने के इस नुस्खे का फ़ायदा होगा.

वैसे भी कॉरपोरेट दुनिया में 'पावर नैप' का काफ़ी चलन है.

तो, इन पांच नुस्खों को आज़माकर आप अपनी याददाश्त बेहतर कर सकते हैं. इन्हें करना भी आसान है.

(बीबीसी फ़्यूचर पर इस स्टोरी को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. आप बीबीसी फ़्यूचर कोफ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार