वो हाईवे जिस पर चलना ख़तरा मोल लेने से कम नहीं

  • 9 जनवरी 2019
ख़तरनाक हाइवे इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

आप ख़तरों के खिलाड़ी हैं?

मुश्किल सफ़र तय करना आप को पसंद है?

ख़तरनाक रास्तों से गुज़रने में आप को मज़ा आता है ?

अगर इन सवालों का जवाब हां है, तो आप से एक और सवाल. आप ने दुनिया की सबसे ख़तरनाक सड़क पर सफ़र तय किया है ?

अगर, नहीं तो चलिए आप को ले चलते हैं दुनिया की सबसे मुश्किल रोड ट्रिप पर.

मध्य एशिया का जंगली सफ़र

मध्य एशिया का पामीर हाइवे दुनिया की सबसे मुश्किल हाइवे कहा जाता है. ये हाइवे किर्गिजिस्तान के ओश शहर से ताजिकिस्तान के दुशाम्बे तक जाता है.

1200 किलोमीटर लंबा ये हाइवे दुनिया का सबसे दुर्गम रास्ता माना जाता है.

इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

ये सड़क बेहद सुनसान, जंगली और वीरान पहाड़ियों से होते हुए गुज़रती है. इस दौरान कई बार ये रेगिस्तान से भी होकर जाती है और कई बार भयंकर खाई को चूमती हुई आगे बढ़ती है.

कई जगह पर ये सड़क क़रीब चार हज़ार मीटर की ऊंचाई से भी होती हुई जाती है. कहा जाता है कि ये सड़क स्नो लेपर्ड और मार्को-पोलो नस्ल की भेड़ों से ज़्यादा आबाद है बनिस्बत इंसानों के.

सफ़र बाम-ए-दुनिया का

पामीर के पहाड़ को बाम-ए-दुनिया या दुनिया की छत कहा जाता है. क्योंकि ये पहाड़ सात हज़ार मीटर ऊंचे हैं. ऊंचाई की बात करें तो केवल हिमालय, हिंदूकुश और कराकोरम के पहाड़ ही पामीर से ऊंचे हैं.

इन्हीं वीरान, ऊसर, बर्फ़ीले और जंगली पहाड़ों से होकर गुज़रता है पामीर हाइवे. ये सड़क ज़लज़ले, चट्टानें खिसकने और दूसरी क़ुदरती आफ़तों से दो-चार होने वाले इलाक़े से गुज़रती है.

इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

कहा जाता है कि किसी भी ड्राइवर के लिए ये सबसे चुनौतीभरे सफ़र की राह है. और यही इस सड़क में दिलचस्पी की बड़ी वजह है. ख़तरों से खेलने के शौक़ीन बाइखर्स, कार रेसर और जोखिम मोल लेने वाले तमाम लोग पामीर हाइवे से गुज़रना पसंद करते हैं.

द ग्रेट गेम का हिस्सा

पहाड़ों के बीच से ये सड़क रूसी साम्राज्य के विस्तार के दौरान बनाई गई थी. उस वक़्त ब्रिटेन और रूस की ज़ारशाही के बीच द ग्रेट गेम छिड़ा हुआ था. जिसके तहत मध्य एशिया पर कब्ज़े की रेस चल रही थी.

ये सड़क कई जगह ऐतिहासिक सिल्क रोड रास्ते का भी हिस्सा बनती है. आप इस हाइवे से गुज़रते हुए पथरीले पहाड़ों पर बने क़िलों के खंडहर अभी भी देख सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

इन क़िलों को उस दौर में कारोबार को सुरक्षित रखने के लिए बनाया गया था. चट्टानों, बालू और धूल भरे इस रास्ते पर कई जगह सड़क पूरी तरह गुम हो जाती है और केवल कच्चा रास्ता ही आप का साथी बचता है.

मरम्मत की कमी की वजह से इस सफ़र में गड्ढे और खाई ज़्यादा मिलेगी आपको.

अफ़ग़ानिस्तान की निगहबानी

पामीर हाइवे का एक बड़ा हिस्सा पंज नदी के साथ-साथ वख़ान कॉरिडोर से गुज़रता है. उफ़नती पंज नदी डराती भी है और रास्ता भी बताती है.

पंज नदी असल में अफ़ग़ानिस्तान और ताजिकिस्तान के बीच की सीमा बनाती है. इसके किनारे इस्माइलीय मुसलमानों के क़बीले आबाद हैं.

इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

पंज नदी के साथ चलते बाइकर्स और कार सवार लोगों को अक्सर मुश्किल पगडंडियों, वीरान पहाड़ियों और ख़ौफ़ दिलाती लहरों के साए में सफ़र तय करना पड़ता है.

कई बार तो नदी के किनारे और गाड़ी के टायर के बीच महज़ कुछ इंच का फ़ासला रह जाता है.

झीलें और ऊंट

लेकिन, इस मुश्किल सफ़र पर निकलने का इनाम भी क़ुदरत देती है. एक से एक ख़ूबसूरत नज़ारे क़ुदरत के कैनवास में देखने को मिलते हैं.

कहीं पर भूरे पहाड़ नाराज़ से खड़े दिखते हैं, तो कहीं उफ़नती नदी डराती है. तो, कहीं, बर्फ़ से लदे पहाड़ मानो संन्यासी जैसे धूनी रमाए बैठे मालूम होते हैं. पहाड़ी रेगिस्तान, गहरी खाईयां, और नदी के बालू से लबरेज़ किनारे बैक्ट्रिया के ख़ास ऊंटों से आबाद हैं.

इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

इस हाइवे के ठीक बीच में यशिकुल नाम की मीठे पानी की झील मिलती है.

इस में तरह-तरह की मछलियां और परिंदे देखने को मिलते हैं.

इस झील के किनारे ठहरकर आप जंगली जीवन का मज़ा ले सकते हैं, वो भी बिना किसी विघ्न के. क्योंकि यहां सैलानी न के बराबर आते हैं.

दूर-दूर तक फैले पहाड़

पामीर हाइवे से गुज़रते हुए आप को ऐसा लगेगा कि पहाड़ों का अंतहीन सिलसिला आप के साथ चलता है. पामीर का पठार तो है ही, ये हाइवे हिंदूकुश पर्वत का दीदार भी कराता है, जो अफ़ग़ानिस्तान में है.

इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

यहां की कई पहाड़ियों के दिलचस्प नाम हैं. मसलन-एकेडमी ऑफ़ साइंस रेंज. कई पर्वत तो ऐसे भी हैं, जिन पर चढ़ाई नहीं हुई. न किसी ने उन बंज़र पहाड़ों पर अपना दावा ठोका है.

पामीर हाइवे इतने मुश्किल रास्तों से गुज़रता है कि ये बहुत डराने वाला लगता है. कहीं उफ़नती नदी, कहीं बंज़र पहाड़, तो कहीं सैकड़ों मीटर खाई के बगल से गुज़रते हाइवे पर सुरक्षा के लिए कोई रेलिंग नहीं है.

यानी अगर आप ज़रा भी चूके, तो सीधे गहरी खाई में जाएंगे. ये रोमांच ही ख़तरों के खिलाड़ियों को पामीर हाइवे के क़रीब ले आता है.

चाहिए फ़ौलाद सा जिगर

इस हाइवे से गुज़रते हुए आपका सामना ख़राब सड़क से तो होता ही है. रोमांच के शौक़ीनों को 1200 किलोमीटर लंबे इस मनोरंजन सफ़र के दौरान ज़लज़ले, बाढ़, हिमस्खलन और गहरी खाई में गिरने के ख़तरे से भी दो-चार होना होता है.

हर क़दम पर मुंह बाये खड़ी मुश्किलें, सफ़र का रोमांच कभी ख़त्म नहीं होने देतीं. इसके अलावा दूर-दूर तक फैली वीरानियां, रास्ते में बुनियादी सेवाओं की भारी कमी, बस्तियों के बीच लंबा फ़ासला धड़कनों को रफ़्तार देता है.

इमेज कॉपीरइट Dave Stamboulis

पामीर हाइवे से गुज़रने का मतलब है, रियल लाइफ़ एक्शन थ्रिलर को ख़ुद से जीना.

जिसे भी इस रोमांच का लुत्फ़ लेना है, उसे मज़बूत दिल वाला भी होना चाहिए और गाड़ी की मरम्मत करना भी आना चाहिए.

ख़तरों के खिलाड़ियों का ख़्वाब

तमाम मुश्किलात के बावजूद, धूल,गर्दो-ग़ुबार, वीरान-बंज़र पहाड़ों और हसीन वादियों से गुज़रने वाला ये सफ़र क़ाबिल-ए-जोखिम है.

ऐसे रोमांच ज़िंदगी में नया रंग भरते हैं. लंबी दूरियां हैं, ख़तरनाक इलाक़े हैं. और बस्तियां इतनी दूर-दूर हैं कि हो सकता है कि पूरे सफ़र के दौरान आप को दूसरा मुसाफ़िर तक न दिखे.

लेकिन, पामीर हाइवे से गुज़रते हुए आप को क़ुदरत के कैनवास के अद्भुत नज़ारे देखने को मिलेंगे.

ऊपर वाले की चित्रकारी की दिलकश तस्वीरें बांहें पसारे आपको गले लगाने को बेक़रार दिखेंगी.

(बीबीसी ट्रैवल पर इस स्टोरी को अंग्रेजी में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. आप बीबीसी ट्रैवल को फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार